GDP की नई पद्धति में सरकार की कोई भूमिका नहीं : वित्त मंत्री

GDP की नई पद्धति में सरकार की कोई भूमिका नहीं : वित्त मंत्री

नई दिल्ली : वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हाल ही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की गणना किये जाने की नई पद्धति को लेकर उठ रहे सवालों को देखते हुए यह कहा है कि इस नई पद्धति में सरकार की कोई भूमिका नहीं है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय स्वायत्त तरीके से अपना काम करता है. इसके अलावा जेटली ने यह भी कहा है कि जिस मॉडल का अभी उपयोग किया जाता है उसे अंतर्राष्ट्रीय सहमति मिल चुकी है. गौरतलब है कि GDP की गणना के लिए नई पद्धति लागू किये जाने को लेकर भी बहस थमने का नाम नहीं ले रही है और इसके साथ ही GDP विकास दर के आंकड़ों पर कई सवाल उठाये जा रहे है.

गौरतलब है कि कुछ समय पहले RBI के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा था कि GDP के इन नए आंकड़ों को पचा पाना बहुत ही कठिन है और इसका विश्लेषण किये जाने की जरुरत है. इस मामले में यह बात भी सामने आई है कि राष्ट्रीय सांख्यिकी आयोग के प्रमुख प्रणब सेन की अध्यक्षता में इस नई गणना पद्धति की जांच करने के लिए एक समिति का गठन भी किया गया है. गौरतलब है कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में GDP विकास दर 7 फीसदी ही रही है, जबकि इससे पहले यह 7.5 फीसदी रही है.