Share:
क्या आप भी सर्दियों में कम पानी पीते हैं? आपको परेशान कर सकती है मानसिक अस्वस्थता
क्या आप भी सर्दियों में कम पानी पीते हैं? आपको परेशान कर सकती है मानसिक अस्वस्थता

सर्दियाँ अपने साथ असंख्य बदलाव लेकर आती हैं, तापमान में गिरावट से लेकर आरामदायक परतों तक। एक पहलू जिस पर अक्सर ध्यान नहीं दिया जाता वह है ठंड के महीनों के दौरान हमारी पानी पीने की आदतों में बदलाव। इस लेख में, हम सर्दियों में पानी के कम सेवन के संभावित परिणामों और मानसिक स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव के बारे में चर्चा करेंगे।

शीतकालीन जलयोजन चुनौती: हम कम पानी क्यों पीते हैं?

जैसे-जैसे तापमान गिरता है, हमारा शरीर प्यास के उतने स्तर का संकेत नहीं दे पाता जितना वे गर्म मौसम में देते हैं। ठंड का मौसम हमारी प्यास बुझाने की प्रक्रिया को दबा देता है, जिससे पानी की खपत कम हो जाती है। चाय और कॉफी जैसे गर्म पेय पदार्थों का सेवन निर्जलीकरण में योगदान कर सकता है।

निर्जलीकरण और मानसिक स्वास्थ्य के बीच संबंध को समझना

निर्जलीकरण केवल एक शारीरिक चिंता नहीं है; इसका मानसिक कल्याण पर भी प्रभाव पड़ता है। शोध से पता चलता है कि हल्का निर्जलीकरण भी मूड और संज्ञानात्मक कार्यों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। सर्दियों में, जब हमारा शरीर जलयोजन की आवश्यकता का संकेत उतनी दृढ़ता से नहीं दे पाता, तो यह प्रभाव अधिक स्पष्ट हो सकता है।

शीतकालीन निर्जलीकरण के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव

1. ऊर्जा स्तर और थकान

निर्जलीकरण से थकान और कम ऊर्जा स्तर की भावनाएं हो सकती हैं। सर्दियों में, जब पानी पीने की प्रवृत्ति कम हो जाती है, तो व्यक्ति खुद को सुस्ती और प्रेरणा की कमी से ग्रस्त पा सकते हैं।

2. संज्ञानात्मक कार्य

अध्ययनों से पता चला है कि निर्जलीकरण संज्ञानात्मक कार्य को ख़राब कर सकता है, जिससे एकाग्रता और स्मृति प्रभावित हो सकती है। सर्दियों के महीनों में, जब हाइड्रेटेड रहना सर्वोच्च प्राथमिकता नहीं हो सकती है, व्यक्तियों को उन कार्यों में चुनौतियों का अनुभव हो सकता है जिनमें मानसिक तीव्रता की आवश्यकता होती है।

3. मूड स्विंग

उचित जलयोजन का मूड विनियमन से गहरा संबंध है। निर्जलीकरण मूड में बदलाव और चिड़चिड़ापन में योगदान कर सकता है। जैसे-जैसे हम सर्दियों की उदासी से गुज़रते हैं, भावनात्मक कल्याण के लिए पर्याप्त पानी का सेवन सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण हो जाता है।

4. तनाव और चिंता

निर्जलीकरण तनाव और चिंता के बढ़े हुए स्तर से जुड़ा हुआ है। सर्दियों में, जब मौसम और छुट्टियों के दबाव के कारण तनाव बढ़ सकता है, तो जलयोजन बनाए रखना तनाव प्रबंधन के लिए एक संभावित उपकरण बन जाता है।

शीतकालीन निर्जलीकरण पर काबू पाना: हाइड्रेटेड रहने के लिए युक्तियाँ

1. अनुस्मारक सेट करें

सर्दियों की गतिविधियों की भागदौड़ में, पानी पीना भूलना आसान है। नियमित पानी की खपत का संकेत देने के लिए अपने फोन पर रिमाइंडर सेट करें या हाइड्रेशन ऐप्स का उपयोग करें।

2. हाइड्रेटिंग फूड्स का विकल्प चुनें

अपने शीतकालीन आहार में उच्च जल सामग्री वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। सूप, स्टू और तरबूज़ जैसे पानी वाले फल आपके समग्र तरल पदार्थ सेवन में योगदान कर सकते हैं।

3. हर्बल चाय और आसव

हालांकि गर्म पेय पदार्थों पर भरोसा करना आकर्षक है, लेकिन कैफीन रहित हर्बल चाय और इन्फ्यूजन को शामिल करने पर विचार करें। ये कैफीन युक्त पेय पदार्थों के मूत्रवर्धक प्रभाव के बिना आपको हाइड्रेट कर सकते हैं।

4. हाइड्रेशन को दृश्यमान रखें

पूरे दिन पानी की बोतल अपने पास रखें। एक दृश्य अनुस्मारक होने से आप अधिक बार घूंट पीने के लिए प्रोत्साहित हो सकते हैं।

स्वस्थ सर्दियों के लिए जलयोजन को प्राथमिकता देना

जैसा कि हम सर्दियों के महीनों में रहते हैं, हमारी जलयोजन की आदतों के प्रति सचेत रहना आवश्यक है। मानसिक स्वास्थ्य पर कम पानी के सेवन के संभावित प्रभाव को पहचानने से हमें समग्र कल्याण बनाए रखने के लिए सक्रिय कदम उठाने की अनुमति मिलती है। इन युक्तियों को अपनी शीतकालीन दिनचर्या में शामिल करें, यह सुनिश्चित करते हुए कि आप अन्य मौसमी विचारों के साथ जलयोजन को प्राथमिकता देते हैं। आपका मानसिक स्वास्थ्य इसके लिए आपको धन्यवाद दे सकता है।

क्या आप भी दर्द से राहत पाने के लिए खाते है मेफ्टाल स्पास? तो हो जाएं सावधान, सरकार ने जारी की चेतावनी

शाम 7 बजे के बाद जरूर करें ये 5 काम, जीवन में होगा खुशियों का आगमन

केंद्र ने दिए 11000 करोड़, पंजाब सरकार ने खर्च किए 3000 करोड़ ! बाकी पैसा कहाँ लगाएं ? उलझन में सीएम भगवंत मान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -