जन विरोधी नीति से परेशान ३४ वारंटी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

Feb 09 2016 08:38 AM
जन विरोधी नीति से परेशान ३४ वारंटी नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

नक्सलियों की जनविरोधी नीति से तंग आकर ३४ वारंटी नक्सलियों ने बेनूर थाने में आत्मसमर्पण कर दिया, हथियार डालने वाले नक्सलियों ने कहा की वे नक्सलियों के बहकावे में आ गए थे और उन्होंने अपराध का रास्ता अपना लिया था. जिसका उन्हें आज भी अफ़सोस है, नक्सलियों का नेतृत्व करने वाले लीडर अपनी नीतियों से हटकर ग्रामीणों का शोषण कर उनसे हमेशा बेवजह मारपीट करते थे. जिससे उन्होंने तंग आकर आत्मसर्पण करना ठीक समझा नक्सलियों की बातो में आकर उन्होंने गलत निर्णय लिया.  

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश शर्मा के अनुसार आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर समाज की मुख्यधारा में जुड़ना चाहते है और सम्मान के साथ अपना जीवन जीना चाहते है.

युवा दहशत की इस राह को छोड़कर अपने परिवार को प्राथमिकता देना चाहते है, नक्सली लीडर उन्हें लालच देकर उन्हें ग्रामीणों के खिलाफ ही हथियार उठाने को मजबूर करते जिससे उन्होंने आत्मसमर्पण करने का निर्णय लिया.