Share:
अमित जोगी के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र से जुड़े मामले में सीबीआई जांच की मांग
अमित जोगी के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र से जुड़े मामले में सीबीआई जांच की मांग

हाईकोर्ट ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में 200 से अधिक आदिवासियों द्वारा लगाई गई याचिकाओं के आधार पर केंद्र, राज्य, अनुसूचित जनजाति आयोग और मध्यप्रदेश शासन को नोटिस जारी किया है. इस याचिका में छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस प्रमुख अजीत जोगी, मरवाही विधायक अमित जोगी पर गलत दस्तावेजों के आधार पर जाति प्रमाण पत्र बनवाने का आरोप लगाया गया है.

अमित जोगी के अलग-अलग तीन जगहों के जन्म प्रमाण पत्र पेश किए है, जिसके तहत अजीत जोगी, मरवाही विधायक अमित जोगी के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करने और सीबीआई जांच की मांग की गई है. फर्जी प्रमाण पत्र को लेकर अधिवक्ता सतीशचंद्र वर्मा के जरिए जिला पंचायत समीरा पैकरा सहित मरवाही विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी परिवारों से 200 से अधिक याचिकाएं प्रस्तुत की है.

अमित जोगी ने 2013 में तहसीलदार के समक्ष जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था, इसमें मरवाही, पेंड्रा के सारबहरा में 7 अगस्त 1978 को जन्म होने की जानकरी दी गई थी, जबकि भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के लिए अमेरिका के डगलास में 7 अगस्त 1977 को जन्म होने की जानकारी दी गई थी. तीसरे अलग प्रमाण पत्र में अमित द्वारा इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइंसेस के लिए मध्यप्रदेश के इंदौर में 7 मई 1977 को जन्म होने की जानकारी दी गई थी. इस मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस आरसीएस सामंत की बेंच ने केंद्र व राज्य शासन, अनुसूचित जनजाति आयोग और मध्यप्रदेश शासन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

ये भी पढ़े 

भाई ने बेटे के साथ मिलकर की बहनों की हत्या, रोने का नाटक कर बचता रहा भाई

जदयू विधायक दल की बैठक आज , नीतीश ले सकते हैं तेजस्वी के इस्तीफे पर फैसला

ममता ने की आंदोलन की घोषणा, बीजेपी भारत छोड़ो !

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -