सर्वदलीय बैठक में पूछेंगे- नोट का फैसला कैसा रहा

नई दिल्ली : केन्द्र की मोदी सरकार अब अन्य दलों के नेताओं से यह पूछेगी कि पांच सौ और एक हजार के नोटों को चलन से बंद करने का फैसला ठीक था या नहीं। मोदी सरकार 15 नवंबर के दिन सर्वदलीय बैठक का आयोजन कर रही है। बताया गया है कि बैठक में न केवल बंद नोटों को लेकर बात होगी वहीं तीन तलाक और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे मुद्दे भी रखे जाकर विचार मंथन किया जायेगा।

गौरतलब है कि 15 नवंबर के दूसरे दिन से ही संसद का शीतलकालीन सत्र भी शुरू होगा। मोदी सरकार ने बीते मंगलवार को ही पांच सौ और एक हजार रूपये के नोटों को चलन से बंद करने का फैसला लिया है। सरकार द्वारा बुलाई जाने वाली सर्वदलीय बैठक में नोटों के साथ ही मोदी सरकार द्वारा लिये गये महत्वपूर्ण फैसले के मामले में चर्चा होगी।

हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि सरकार बंद नोटों के बारे में सर्वदलीय नेताओं से चर्चा करेगी या नहीं। यहां उल्लेखनीय है कि सरकार के इस निर्णय का विरोध करने वालों की संख्या बहुत कम है। हालांकि सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर जरूर सरकार पर आरोप लगाये गये है। इसका जवाब भी बैठक में सरकार द्वारा दिए जाने की बात सामने आई है।

सर्वदलीय बैठक में सैन्य कार्रवाई का समर्थन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -