चुनाव आयोग ने कहा एक साल में हों सारे चुनाव

नई दिल्ली : बदलते राजनीतिक परिवेश में चुनाव आयोग ने एक राष्ट्र एक चुनाव का विकल्प देते हुए यह सुझाया है कि सभी चुनावों को एक वर्ष में एक निर्धारित समय पर करवा लिया जाए. चुनाव आयोग ने इसे लेकर विधि आयोग से पूछा था.

बता दें कि चुनाव आयोग के विचार पर अपने 20 बिंदुओं के सवाल के हिस्से के रूप में विधि आयोग ने चुनाव आयोग से कहा था कि वर्तमान चुनाव प्रणाली को पूरी तरह बदलने के बजाय सभी चुनावों को एक वर्ष में निश्चित समय पर करा लिया जाना ज्यादा उपयुक्त रहेगा. एक बैठक में चुनाव आयोग ने यह सुझाव दिया था कि यदि उन्हें पांच साल खत्म होने से पहले ही चुनाव कराने का अधिकार दिया जाए, तो वे सभी चुनावों को एकवर्ष में निर्धारित समय पर करवाया जा सकता है.लेकिन आयोग पहले से चुनावों की तारीख तय करने के पक्ष में नहीं था.

उल्लेखनीय है कि वर्तमान नियमों के अनुसार चुनाव आयोग को किसी भी विधानसभा के पांच साल के कार्यकाल के खत्म होने के 6 महीने पहले चुनाव करवाने का अधिकार है. इस बारे में चुनाव आयोग के पूर्व अधिकारी एसके मेन्दीरत्ता ने इसे अच्छा विचार बताते हुए कहा कि सभी चुनावों को एक वर्ष में निर्धारित समय में करना सही रहेगा. इसके लिए विधान सभा की अवधि बढ़ाने या कम करने के लिए कानूनों को बदलने की जरूरत होगी. इस विषय पर सर्वसम्मति बनाना राजनीतिक दलों की जिम्मेदारी है.

यह भी देखें

कैराना उपचुनाव: अखिलेश ने केजरीवाल को लेकर किया बड़ा ट्वीट

कैराना में आम आदमी पार्टी महागठबंधन में शामिल

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -