Share:
आंवला नवमी पर अपना लें ये खास उपाय, बरसेगी भगवान विष्णु की कृपा
आंवला नवमी पर अपना लें ये खास उपाय, बरसेगी भगवान विष्णु की कृपा

अक्षय नवमी के दिन प्रभु श्री विष्णु और आंवले के वृक्ष की पूजा का खास महत्व बताया गया है. हिंदू पंचांग के मुताबिक, कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अक्षय नवमी मनाई जाती है. इस वर्ष अक्षय नवमी 21 नवंबर यानी आज मनाई जा रही है. अक्षय नवमी को आंवला नवमी भी कहा जाता है. सनातन धर्म की मान्यताओं के मुताबिक, आंवले के वृक्ष में स्वयं प्रभु श्री विष्णु वास करते हैं. इसलिए, अक्षय नवमी पर आंवले के पेड़ की पूजा से शुभ फल की प्राप्ति होती है. शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि अक्षय नवमी के दिन आंवले के कुछ विशेष उपाय करने से घर की आर्थिक स्थिति मजबूत हो जाती है तथा धन की समस्या समाप्त हो जाती है. तो आइए आपको बताते हैं कि अक्षय नवमी पर कौन से विशेष उपाय करने चाहिए. 

* अक्षय नवमी पर निर्धन लोगों को भोजन कराने से बड़ा पुण्य प्राप्त होता है. इस दिन आंवले के वृक्ष की छांव में किसी गरीब को बिठाकर भोजन कराने से भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त होता है. ये उपाय करने से घर में कभी अन्न और धन की कमी नहीं होती है. 

* ऐसा कहते हैं कि आंवले के बीजों को हरे कपड़े में बांधकर अपने पास रखने से आर्थिक लाभ होता है. इस पोटली को आप तिजोरी या धन के स्थान पर भी रख सकते हैं. यदि आप कारोबारी हैं तो आंवले के बीजों की बंधी पोटली अपने गल्ले में रख सकते हैं. ऐसा करने से आपको कभी व्यापार में नुकसान नहीं होगा.

* अक्षय नवमी के दिन आंवले के वृक्ष के पत्तों पर हल्दी का स्वस्तिक बनाएं तथा उसका वंदनवार बनाकर अपने घर के मुख्य द्वार पर टांग दें. इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होगा. घर की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी तथा तनाव या लड़ाई-झगड़ों की समस्याएं भी समाप्त होंगी. 

* अक्षय नवमी के त्योहार पर अपने घर के आस-पास आंवले का वृक्ष लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है. ऐसा कहा जाता हैं कि घर के सामने आंवले का वृक्ष लगाने से नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश नहीं करती है तथा घर की सुख-समृद्धि बनी रहती है. आंवले का पेड़ लगाते हुए वास्तु के नियमों को बिल्कुल नजरअंदाज न करें.

अक्षय नवमी शुभ मुहूर्त:-
हिंदू पंचांग के मुताबिक, कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अक्षय नवमी मनाया जाता है. इस बार नवमी तिथि का आरंभ 21 नवंबर यानी आज प्रातः 3 बजकर 16 मिनट पर आरम्भ हो गई है तथा नवमी तिथि का समापन 22 नवंबर को रात 1 बजकर 9 मिनट पर होगा. अक्षय नवमी का पूजन मुहूर्त 21 नवंबर यानी आज प्रातः 6 बजकर 48 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 7 मिनट तक होगा. 

'राजस्थान में कांग्रेस एकजुट, बिखरी हुई तो भाजपा है..', चुनावी रैली में प्रियंका गांधी का बड़ा दावा

इन राशि के जातकों के लिए शुरू होने वाले है अच्छे दिन, मिलेगी तरक्की

इन 7 चीजों के बिना अधूरी मानी जाती है छठ पूजा, यहाँ जानिए इससे जुड़ी जरुरी बातें

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -