Share:
श्रद्धा हत्याकांड के बाद इस दलित युवक की कहानी सुन काँप उठे लोग, AIMIM सांसद पर भी लगाया आरोप
श्रद्धा हत्याकांड के बाद इस दलित युवक की कहानी सुन काँप उठे लोग, AIMIM सांसद पर भी लगाया आरोप

मुंबई: श्रद्धा हत्याकांड ने पुरे देश को हिला कर रख दिया है। इसी बीच शुक्रवार (18 नवंबर 2022) को एक ऐसी घटना सामने आई, जिसमें पीड़ित एक दलित लड़का है। मुस्लिम प्रेमिका होने की वजह से इस युवक को कई प्रकार की प्रताड़ना दी जा रही है। इसमें उसकी प्रेमिका का भी हाथ है। इस मामले में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के एक नेता का नाम भी सामने आया है। दलित शख्स दीपक सोनवणे महाराष्ट्र के संभाजीनगर में स्थित मराठवाड़ा प्रौद्योगिकी संस्थान (MIT) में पढ़ाई करता है। यहाँ उसकी एक मुस्लिम युवती सना फरहीन शाहमीर शेख से मित्रता हुई, जो बाद में प्रेम संबंधों में बदल गई। अब दीपक को सना के परिवार से निरंतर प्रताड़ना मिल रही है तथा उससे जबरन वसूली की जा रही है। यहाँ तक कि उसका जबरन खतना भी कर दिया गया।

संभाजीनगर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दीपक सोनवणे ने अपना दर्द साझा किया। दीपक ने बताया कि उसकी मुस्लिम प्रेमिका के परिवार में इस्लामवादियों को इस मामले में हर कदम पर प्रभावशाली स्थानीय सांसद इम्तियाज जलील का निरंतर समर्थन मिल रहा है। इम्तियाज जलील AIMIM का सांसद हैं। दीपक सोनवणे ने अपनी प्रेमिका सना फरहीन शाहमीर शेख के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस आयुक्त, संभाजीनगर को संबोधित शिकायत में शाहमीर शमशुद्दीन शेख, ख्वाजा सैय्यद, शबाना बेगम शेख, साजिया सदफ शाहमीर शेख, AIMIM के सांसद इम्तियाज जलील एवं उनके अंगरक्षकों के नाम हैं।

दीपक सोनवणे ने संभाजीनगर के मराठवाड़ा प्रौद्योगिकी संस्थान से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। सना उसकी सहपाठी थी। दोनों पहले दोस्त बने तथा फिर दोनों के बीच प्यार हो गया। दीपक सोनवणे ने अपनी शिकायत में बताया, “सना शेख और मैं एमआईटी कॉलेज में वर्ष 2018 से हम सहपाठी थे। सना और मैं परिचित हो गए। तत्पश्चात, हमारा यह प्रेम प्रसंग हुआ। सना ने मुझे शादी का लालच दिया और कहा, ‘मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ। तुम इस्लाम कबूल कर लो। नमाज पढ़ो, कुरान पढ़ो’।” दीपक सोनवणे ने अपनी शिकायत में आगे लिखा, “मैंने उसे माता-पिता (अब्बू शाहमीर शमशुद्दीन शेख एवं अम्मी शबाना बेगम शेख) से यह बात कही। उन्होंने मुझे आश्वासन दिया कि वे अपनी बेटी को ठीक से समझाएँगे तथा मुझे चिंता नहीं करनी चाहिए।” दीपक सोनवणे ने बताया कि उन्हें किस प्रकार की यातनाओं से होकर गुजरना पड़ा। उन्होंने कहा, “मार्च 2021 में उसके अम्मी-अब्बू, चाचा एवं बहन ने मुझे गुलमंडी क्षेत्र में मिलने के लिए बुलाया। जब मैं वहाँ गया तो उन्होंने मुझे अपनी मोटरसाइकिल वहीं खड़ी करने को कहा तथा कहा कि ‘हम सभी को कहीं बाहर जाने की आवश्यकता है। जैसे ही मैंने उन्हें मना किया, ख्वाजा सैय्यद और शाहमीर शेख मुझे जबरन अपने घर ले गए। वहां उन्होंने मुझे कमरे में बंद कर दिया।” आगे दीपक सोनवणे ने बताया, “शाहमीर शेख और ख्वाजा सैय्यद ने मेरे कपड़े उतार दिए। शबाना बेगम और साजिया सदफ ने मेरे हाथ-पैर बाँधकर मेरे मुँह में कपड़ा डाल दिया। तत्पश्चात, शाहमीर शेख ने मेरे शरीर पर पेशाब कर दिया। इसका वीडियो सना और शाहमीर शेख के मोबाइल पर शूट किया गया था। फिर उन्होंने मुझे इस्लाम में धर्मांतरित करने का दबाव बनाने के लिए पीटना आरम्भ कर दिया।” दीपक सोनवणे ने आगे कहा, “उसके बाद सना और उसकी माँ एवं बहन मुझे सिटी चौक थाने के पीछे की गली में एक चिकित्सालय ले गए और कहा कि हम यहाँ तुम्हें मुस्लिम बनने के लिए लाए हैं। हम यहाँ तुम्हारा खतना करा रहे हैं। अगर आप यहाँ किसी से कुछ कहोगे तो हम तुम्हारा वीडियो वायरल कर देंगे तथा समाज में तुम्हें बदनाम करेंगे।”

दीपक ने बताया कि इस के चलते अपराधियों ने उसे और उसके परिवार को मारने की धमकी भी दी। आगे दीपक ने कहा, “हम तुम्हें और तुम्हारे परिवार को भी मार डालेंगे। उनकी बात सुनकर मैं बहुत डरा हुआ था, क्योंकि मेरी और मेरे परिवार की जान खतरे में थी। यदि मेरा वीडियो वायरल हुआ तो मैं बदनाम हो जाऊँगा।” दीपक ने बताया, “उन्होंने इसका फायदा उठाया और मेरा खतना कार दिया। फिर मुझसे बोला कि तुम अब एक सच्चे मुसलमान हो। यदि तुमने किसी को बताया कि क्या हुआ है तो याद रखना, तुम्हें इसका पछतावा होगा। इसके बाद वे लोग मुझे वापस गुलमंडी ले आए। मैं वहाँ से अपने घर आया और फिर मैंने सना से दूर रहने का फैसला कर लिया।” दीपक के विरुद्ध प्रताड़ना यहीं नहीं रुकी। उससे निरंतर वसूली की जाती रही। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा, “सना और उसकी माँ मेरे घर आए तथा पैसे की माँग करते हुए धमकी दी कि हम दीपक का वीडियो वायरल करेंगे। दीपक के खिलाफ गंभीर मुकदमा दर्ज करेंगे तथा उसकी जिंदगी बर्बाद कर देंगे। मैंने उसे वक़्त-वक़्त पर 7 लाख रुपए नकद और 4 लाख रुपए ऑनलाइन दिए। मैंने कुल 11 लाख रुपए भेजे, लेकिन उन्होंने मुझसे 25 लाख रुपए की माँग की। तत्पश्चात, मैंने उन्हें मना कर दिया, क्योंकि उस समय मेरे पास पैसे नहीं थे।”

उन्होंने आगे कहा, “तब सना ने मेरे खिलाफ 29-09-2021 को एमआईडीसी सिडको थाने में शिकायत दर्ज कराई। IPC की धारा 354 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। मामला दर्ज करने के पश्चात् सना ने मुझे फोन किया और कहा कि मैंने तुमसे कहा था। तुमने मेरी बात नहीं मानी। मेरे अम्मी-अब्बू तुम्हारे खिलाफ मामला दर्ज कराया है, लेकिन मैं सँभाल लूँगी। फिर 19-12-2021 को मैं सना और उसके माता-पिता से जिला सत्र न्यायालय में मिला और उस समय उन्होंने कहा कि 25 लाख दो या इस्लाम स्वीकार करो, फिर हम केस वापस ले लेंगे।” अपनी शिकायत में दीपक सोनवणे ने आगे कहा, “12-08-2022 को सना शाहमीर शेख और ख्वाजा सैय्यद ने मुझे क्लाउड कैंपस में आने के लिए विवश किया। वहाँ उन्होंने मुझे एक प्रोजेक्टर पर मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक के वीडियो दिखाए और मुझे नमाज अदा करने के लिए विवश किया।” दीपक ने कहा, “यदि मैं उनका विरोध करता तो वे मुझे पीटते और जातिसूचक गालियाँ देते। उन्होंने कहा कि तुम महार जाति के हो। महार जाति नीची जाति है। तुम लोग गंदगी खाने वाले लोग हो। तुम महार नहीं, बल्कि वेश्या समुदाय से हो। वे निचले स्तर पर जाकर मुझे जातिवादी अपमान किया।” अपनी शिकायत में दीपक सोनवणे ने आगे कहा है, “20-08-2022 को दोपहर 2.00 बजे नामित व्यक्तियों ने मुझे पैठण गेट के पास एक कार में अपने साथ बैठने के लिए विवश किया तथा मुझे सत्यविष्णु चिकित्सालय रोड पर ‘क्लाउड कैंपस’ के पास ले गए। रोजाबाग क्षेत्र में सांसद इम्तियाज जलील का घर है। वहाँ सांसद इम्तियाज जलील की उपस्थिति में उन्होंने मुझे एक हॉल में बंद कर दिया।” दीपक ने बताया, “उसके बाद उनके अंगरक्षकों ने मेरे साथ मारपीट की और नामजद व्यक्तियों ने रुपए छीन लिए। मेरी ओर से 1,50,000 नकद, एक लैपटॉप और एक प्लस कंपनी का मोबाइल फोन। मुझे वहां पीटा गया, उन्होंने मुझे जान से मारने की धमकी दी और पैसे की माँग की। इसके साथ ही मुझे जातिवादी गालियाँ दीं। यह सब बीते 2 वर्षों से चल रहा है।”दीपक ने बताया कि इन सबकी शिकायतें उन्होंने पुलिस से कीं। उन्होंने सीपी दफ्तर को कई शिकायतें भेजी, मगर किसी ने उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं लिया। दीपक सोनवणे और उनके साथियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “क्या सीपी ऑफिस से ही कोई लिंक है? यह किसके इशारे पर किया गया?” वही इस खबर ने हर किसी को हैरान कर दिया।

श्रद्धा हत्याकांड में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, मिला ये सुराग

महाराष्ट्र से गिरफ्तार हुआ अनोखा चोर, मामला जानकर हो जाएंगे हैरान

आज़ादी के 75 साल बाद इस राज्य को मिला पहला एयरपोर्ट, पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -