25 साल बाद पाकिस्तान के पूर्व PM ने माना अपने मुल्क का गुनाह, बोले- ‘हमने तोड़ा था लाहौर समझौता, हम ही कसूरवार’
25 साल बाद पाकिस्तान के पूर्व PM ने माना अपने मुल्क का गुनाह, बोले- ‘हमने तोड़ा था लाहौर समझौता, हम ही कसूरवार’
Share:

पाकिस्तान के पूर्व पीएम एवं सत्ताधारी PML-N के मुखिया नवाज शरीफ ने कबूल किया है कि पाकिस्तान ने 1999 का द्विपक्षीय लाहौर समझौते का उल्लंघन किया। लाहौर समझौता तोड़ने के लिए उन्होंने पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने यह बात पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ कि उपस्थिति में कही।

पूर्व पीएम नवाज शरीफ ने कहा, “पाकिस्तान ने 1998 में परमाणु धमाके किए। तत्पश्चात, भारतीय पीएम अटल बिहारी वाजपेयी पाकिस्तान आए तथा दोनों देशों के बीच समझौता हुआ। वो अलग बात है कि हमने वो समझौता तोड़ दिया, इसमें हम कसूरवार हैं। इसमें हमारी गलती है। अब शहबाज शरीफ पीएम है, यह पाकिस्तान का रुख मोड़ें।” नवाज शरीफ ने यह बातें सत्ताधारी PML-N के एक कार्यक्रम में कहीं। यह PML-N का अध्यक्ष बनने के पश्चात् उनका पहला सार्वजनिक भाषण था। इसमें उन्होंने पाकिस्तान के आंतरिक मुद्दे उठाए। इस के चलते मंच पर पाकिस्तान के पीएम एवं उनके छोटे भाई शहबाज शरीफ भी उपस्थित थे।

गौरतलब है कि फरवरी 1999 में भारतीय पीएम अटल बिहारी वाजपेयी एवं पाकिस्तान के तत्कालीन पीएम नवाज शरीफ ने भारत-पाकिस्तान के सम्बन्धों को लेकर एक समझौता किया था। इसे लाहौर में अंतिम रूप दिया गया था, इसलिए इसे लाहौर समझौता कहा गया था। इस समझौते में दोनों देश इस बात पर राजी हुए थे कि वह आपस में परमाणु हथियारों की दौड़ नहीं करेंगे, जम्मू कश्मीर सहित बाकी सीमा पर शान्ति के लिए काम करेंगे। इस समझौते में दोनों देशों ने इस बात पर सहमति व्यक्त की थी कि वह इस क्षेत्र में मिल कर काम करेंगे। इस समझौते पर हस्ताक्षर के लिए पीएम अटल बिहारी वाजपेयी दिल्ली से लाहौर बस से गए थे। इसी दिन से दिल्ली से लाहौर सीधी बस सेवा चालू हुई थी। इस समझौते को दोनों देशों की संसद में भी अनुमति दी गई थी। हालाँकि, यह समझौता अधिक दिन नहीं टिक सका।

समझौते के कुछ ही दिनों के अंदर पाकिस्तानी सेना ने भारत के कारगिल क्षेत्र घुसपैठ कर दी तथा कुछ भागों पर कब्जा कर लिया। बताया गया कि यह काम तत्कालीन पाक फ़ौज के मुखिया परवेज़ मुशर्रफ ने किया। तत्पश्चात, भारत ने पाकिस्तानी घुसपैठियों को भगाने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया था। दोनों देशों के बीच कारगिल युद्ध के पश्चात् बहुत दरार आई थी।

‘ये छूटा तो मेरी जान को खतरा होगा’, स्वाति मालीवाल के बयान के बाद कोर्ट ने 3 दिन और बढ़ाई विभव कुमार की हिरासत

आगरा की मस्जिद में मिली खून से सनी महिला की लाश, मामले पर पुलिस ने अब दिया ये अपडेट

'मुझसे जबरदस्ती भ्रष्टाचार करवाया..', 187 करोड़ की हेराफेरी मामले में कर्नाटक के सरकारी कर्मचारी ने की ख़ुदकुशी, लिखे अफसरों के नाम

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -