उरी हमले में 17 जवान शहीद, मोदी ने कहा: भरोसा रखो दोषियों को नहीं बख्शेंगे

उरी : आज जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में LOC के समीप आतंकियों ने आर्मी ब्रिगेड के हेडक्वार्टर पर बड़ा हमला किया. इस हमले में 17 जवान शहीद हो गए जबकि हमले में शामिल सभी चार आतंकियों को ढेर कर दिया गया है. रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर आज श्रीनगर पहुँच रहे है, वें श्रीनगर के लिए रवाना हो चुके है. साथ ही सेना चीफ सुहाग भी वहां पहुँच चुके है. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी को एनकाउंटर से जुड़ी जानकारी साझा की.

इस हमले को लेकर PM मोदी ने कहा कि, 'हम दृढ़ता से इस कायरतापूर्ण आतंकी हमले की निंदा करते हैं. मैं राष्ट्र को आश्वासन देता हूं कि इस घृणित हमले के पीछे के दोषियों नहीं बख्शा जाएगा.' उन्होंने आगे ट्वीट में लिखा कि, 'मैं उन सभी उड़ी में शहीद को सलाम करता हूं. उनकी राष्ट्र सेवा को हमेशा याद किया जाएगा.'

इस मामले में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी उच्च स्तरीय बैठक बुलाई. बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, गृह सचिव राजीव महर्षि, डीजी सीआरपीएफ दुर्गा दास, आईबी चीफ दिनेश्वर शर्मा, रक्षा सचिव जी मोहन कुमार और डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह मौजूद रहे.

खबर के अनुसार हमला आज सुबह 5:30 बजे सुसाइड अटैक हुआ है. हमले के समय डोगरा रेजीमेंट के जवान एक तंबू में सोए हुए थे, जिसमें विस्फोट के चलते आग लग गई. आग पास स्थित बैरकों तक भी फैल गई. आतंकियों के हमले बाद सेना ने मोर्चा संभाला. सेना ने जवाबी कार्यवाई करते हुए 4 आतंकियों को मार गिराया है. फ़िलहाल सेना का ऑपरेशन खत्म हो चूका है. सेना द्वारा वहां सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

इससे पहले आतंकी सुबह अंधेरे का फायदा उठाकर सेना के मुख्यालय में घुसे और हमला कर दिया. हमले के तुरन्त बाद सुरक्षा बलों ने आतंकियों को चारों ओर से घेर लिया. इस ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए हेलीकॉप्टर की भी मदद ली गई. इस दौरान वहां बैरक में आग लग गई. हमले के बाद पूरे इलाके में हाई अलर्ट घोषित कर दिया.

कितने आतंकियों ने हमला किया है इस बारे में अभी तक जानकारी सामने नहीं है, लेकिन खबर है कि 4-5 आतंकी बेस में तार काटकर घुसे हैं. इस हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अमेरिका और रूस दौरे को टाल दिया है. इस मामले में राजनाथ सिंह ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -