ओणम सेलिब्रेशन का असली मजा लेने आप जा सकते हैं इन तीन जगहों पर

ओणम सेलिब्रेशन का असली मजा लेने आप जा सकते हैं इन तीन जगहों पर

ओणम का त्यौहार बहुत ही ख़ास त्यौहार होता है और यह त्यौहार पुरे भारत में जश्न और उल्लास के साथ मनाया जाता है. इस त्यौहार को दक्षिण भारत का प्रमुख त्यौहार कहा जाता है. हर साल यह त्यौहार केरल में सबसे ज्यादा धूम-धाम से मनाया जाता है और अगर किसी को इस त्यौहार का आनंद लेना हो तो वह केरल जा सकता है. केरल के कई ऐसे स्थान है जहाँ पर इस त्यौहार पर सबसे ज्यादा धूम मचाई जाती है. आइए बताते हैं हम उन स्थानों के बारे में.

बाढ़ के चलते रद्द हुआ ओणम का त्यौहार

तिरुवनंतपुरम - यहाँ पर बहुत ही खूबसूरत माहौल होता है. आपको बता दें कि यह केरल की राजधानी है और यहाँ जितने अच्छे से ओणम की तैयारी की जाती है उतने अच्छे से कहीं नहीं की जाती. यहाँ पर शाम के समय में सभी जगह जश्न का माहौल होता है जो देखने लायक होता है.

ओणम त्यौहार से जुडी इन बातों को नहीं जानते होंगे आप

त्रिकाकरा मंदिर - यहाँ पर ओणम की शुरुआत की जाती है जो काफी आकर्षक और सुंदर होती है. यहाँ ओणम के दौरान कई डांस किए जाते हैं जो बहुत ही बेहतरीन होते हैं और साथ ही यहाँ झंडा भी फहराया जाता है. ओणम को इस मंदिर में सबसे ज्यादा धूम -धाम के साथ मनाया जाता है.

दक्षिण भारत की खूबसूरती निहारेगा ओणम का त्यौहार

अराणमुला स्नेक बोट रेस - यहाँ पर ओणम का आयोजन बहुत ही खुशनुमा किया जाता है. ओणम को यहाँ पर एक बहुत बड़े त्यौहार की तरह मनाया जाता है. यहाँ पर हज़ारों की तादाद में लोग आते हैं क्योंकि यहाँ पंबा नदी में बोट रेस की जाती है जो सबसे अलग होती है.

देख भाई देख

केरल: भीषण बाढ़ और तबाही के बीच आया 'ओणम'

ओणम त्यौहार मनाने के पीछे का रहस्य

?