JEE Main 2018: CBT परीक्षा के लिए इन बातों का रखें विशेष ध्यान​​​​​​​

Apr 14 2018 11:18 AM
JEE Main 2018: CBT परीक्षा के लिए इन बातों का रखें विशेष ध्यान​​​​​​​

JEE Main 2018 की परीक्षा में बैठने वाले बच्चों के लिये ये समय काफी तनावपूर्ण होता है, क्योंकि परीक्षा निकट है और ऐसे में क्या करें और क्या ना करें ताकि आप परीक्षा के दिन अपना बेहतरीन प्रदर्शन दें सकें बिना किसी चूंक के।

JEE Main 2018 की परीक्षा से सम्बंधित और टिप्स के लिए क्लिक करें

अप्रैल 15 और अप्रैल 16, 2018 को कम्प्यूटर के माध्यम से होने वाली JEE Main की परीक्षा (CBT) है जिसमें लाखों बच्चों के बैठने की आशंका है। इन विद्यार्थियों में से कुल 2,24,000 विद्यार्थी JEE Advanced के लिये चुनें जायेंगे जो विभिन्न IIT की 10000 सीटों के लिये प्रतिस्पर्धा करेंगें। इन सहूलियतों का फायदा उठाते हुए आप सभी प्रश्नों को ध्यान से हल कर सकते हैं।

सोच समझ कर दें सवालों के जवाब – CBT माध्यम का प्रमुख लाभ यह है की आप सदैव जान सकते हैं की आपने कुल कितने प्रश्न हल करें और कितने रह गए हैं। आप प्रश्नों को आगे जांच के लिए मार्क कर सकते हैं ताकि आप बाद में उनकी समीक्षा दुबारा कर सकें। 

अधिक सवालों के उत्तर देनें से बचें - जिन सवालों में आपको जरा सी आशंका हो वो सवाल छोड़ कर दूसरे को करने की कोशिश करें और अन्दाज़े से सवालों के जवाब कतई ना दें क्योंकि गलत जवाब देने पर आपके नम्बर कट जायेंगे और आपने जितने सवालों के सही जवाब दिये हैं उसमें से नम्बर कटने पर आपके कट ऑफ़ पर असर पड़ सकता है। माना आपने 60 सवालों के बिल्कुल सही जवाब दिये और आपने अपने आपको 1 सुरक्षित ज़ोन में कर लिया पर वहीं अगर आपने 100 सवाल किये हैं और उनमे गलत सवालों की वजह से नम्बर कटे तो आपकी मेरिट पर बुरा असर होगा। इसलिये सवालों को करने से पहले ध्यान रखें।

स्मार्ट तरीके से हल करें प्रश्न – परीक्षा में कभी कभी ऐसा होता है की हम कईं प्रश्नों को करने में समर्थ तो होते हैं पर भ्रमित हो जाते हैं। ऐसे समय में प्रश्न को कईं बार पढें और सही विकल्प को ना चुनते हुए गलत विकल्पों को ढूंढ कर अलग कर दो और उत्तर तुम्हे निकालने में सरलता हो जायेगी।  

तनाव से दूरी – तनावपूर्ण दिमाग से की गयी तैयारी से आपको बहुत परेशानी हो सकती है जैसे परीक्षा के समय आपको याद ही ना आये की आपने पढ़ा क्या था। अपना सारा ध्यान अध्ययन और तैयारी में लगाएं और अपनी सोच सकारत्मक रखें ताकि बेहतर तैयारी के साथ पेपर दे सकें। 

मन की एकाग्रता - पूर्ण एकाग्रता के साथ अध्ययन करने से प्रभावी और अच्छी तैयारी होती है। मस्तिष्क-स्वास्थ्य के लिए नियमित शारीरिक व्यायाम आवश्यक है यह मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है। मस्तिष्क के कुशल प्रदर्शन के लिए पूर्ण आराम की आवश्यकता होती है। इसलिए  कभी भी अपने सोने के समय को कम ना करें ना ही नींद कम करें। 

आपके अध्ययन की इच्छा - अध्ययन करने के लिए तैयार रहना आपके अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अनिवार्य है। इस पर ध्यान केंद्रित करने के लिए आपको अपनी पढ़ाई में रुचि होनी चाहिए। 

अपने समय का प्रबंधन करें – समय प्रबंधन को लेकर आपको खुद पर सख्त होना चाहिए। एक बार जब आप प्रत्येक प्रश्न के लिए एक समय सीमा तय कर लेते हैं, तो आपको इसे करके अगले  सवाल पर बढ़ना चाहिए नहीं तो आप अगले प्रश्न को अपना पूरा ध्यान नहीं दे पाएंगे। अपने दिये गये जवाबों को दोबारा वापस जाके जाँचने के लिए,  अंत में कुछ समय छोड़ना याद रखें। 

सबसे आसान सवाल पहले करें - इसके दो कारण हैं। सबसे पहले, परीक्षा शुरू होने पर आपको एक प्रश्न सुरक्षित रूप से मिल रहा है और  आत्मविश्वास को बढ़िया बढ़ावा देता है। कठोर प्रश्नों को देख कर घबड़ाहट की भावनाओं को कम करने में मदद कर सकता है। दूसरा कारण यह है कि सबसे आसान सवाल का औसत से कम समय लेने की संभावना है। इसका मतलब है कि आप शुरू से ही शेड्यूल से आगे होंगे। 

पानी की एक बोतल अपने पास रखो – अग्रणी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं का कहना है कि पानी वास्तव में छात्रों को हाइड्रेटेड रखके शैक्षिक प्रदर्शन को बढ़ावा देता है। यह खुद को परीक्षा के दौरान शांत रखने का एक अच्छा तरीका है। शोधकर्ताओं ने कहा कि पीने का पानी भी नसों को शांत कर सकता है, जबकि जो लोग परीक्षा के दौरान प्यासे हो जाते हैं वे आसानी से विचलित हो सकते हैं। इसलिये पानी अपने साथ रखें। 

खुश रहिये और तनावमुक्त होकर परीक्षा दीजिये। हमारी तरफ से JEE देने वाले सभी विद्यार्थियों को ढेर सारी शुभकामनाएँ।

?