माइलेज बढ़ाने और कार मैंटेनेंस के असरदार एवं सरल उपाय

आपकी कार को सदा सेहतमंद और ज्यादा माइलेज देने वाली बनाये रखने के लिए हम आपके लिए लाये है कुछ खास और सरल से उपाय -

गाड़ियों के रोटेटिंग पार्ट्स जैसे इंजन और गियरबॉक्स को रेगुलर लुब्रिकेशन की जरूरत होती है. ऐसा नहीं करने पर इसका माइलेज कम हो जाता है. सर्विस ऑइल चेंज, कूलैंट ऑइल का लेवल, चेन लुब्रिकेशन पर खास तौर पर ध्यान दें. टायर के उचित प्रेशर ,मैन्युफैक्चरर के निर्देश के मुताबिक टायर को इंफ्लेट किया जाए, इस चीज की जिम्मेदारी ड्राइवर की होनी चाहिए. अगर ज्यादा लोड या वजन कैरी करना चाहते हैं तो वीइकल हैंडबुक को पढ़कर उसके मुताबिक टायर प्रेशर में सुधार करें.

गलतफहमी में न रहें कि फिर से इंजन चालू करने में ज्यादा फ्यूल खर्च होगा. जब गाड़ी खड़ी हो तो इंजन बंद कर देना बेहतर है. अगर आप ट्रैफिक में 10 सेकंड्स से ज्यादा फंस गए हों तो इग्निशन को बंद कर दें. नए गाड़ी चलाने वाले अक्सर क्लच पर ज्यादा जोर देते हैं. इससे ज्यादा फ्यूल खर्च होता है. इससे आपकी कलच प्लेट भी खराब हो सकती है.

इन दिनों जीपीएस गैजेट्स पर बिजी इंटरसेक्शंस, ट्रैफिक अपडेट्स और किसी रूट पर डाइवर्जन की सूचना मिल जाती है जिस रूट पर ट्रैफिक है, उससे बचने और छोटे रूट का पता लगाने में जीपीएस का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे आपकी गाड़ी का माइलेज बढ़ेगा. यह हकीकत है कि जब फ्यूल गर्म होता है तो फैलता है और ठंडा होने पर गाढ़ा होता है. सुबह या देर रात के समय तापमान कम होता है, इसलिए दोपहर या शाम में तेल भरवाने की बजाए सुबह या देर रात को भरवाएं तो फायदे में रहेंगे.

ओला-उबर ने बिगाड़ा कार कंपनियों का गणित

2018 में मारुती की तीन शानदार कारे

आ रही है बिना पेट्रोल-डीजल से चलने वाली कार

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -