मक्का में भगदड़ में मरने वालो में 18 भरतीय भी शामिल

मक्का : सऊदी अरब के शहर मक्का में हज यात्रा के दौरान मची भगदड़ में 18 भारतीयों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. इस बात की जानकारी शनिवार को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर दी. गुरुवार को मीना में हुए इस हादसे में लगभग 717 लोगों की मौत हो गई थी, और वही 800 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. इस दिन शैतान को पत्थर मारने की रस्‍म पूरी की गई थी. इस वजह से भारी संख्‍या में लोग मीना में जमा हुए थे. आपको बता दें कि हज यात्रा के आखिरी दिन यह हादसा हुआ था. इस बार लगभग 20 लाख के करीब हज यात्री यहाँ पहुंचे थे.

इससे पहले 18 सितंबर को मक्का के अल-हरम मस्जिद में क्रेन गिरने के कारण एक हादसा हो गया था. इसमें 100 से ज्यादा लोग मर गए थे. वही इससे पहले भी साल 2006 में 12 जनवरी को भी शैतान को पत्थर मारने की घटना के दौरान भगदड़ मच गई थी. इसमें 400 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी. आपको बता दें कि मक्का के बाहरी इलाके मीना में शैतान को पत्थर मारने का रिवाज है. इस दौरान यहां आये हज यात्री सात पत्थर तीन बार शैतान को मारते हैं. गौरतलब है की मक्का में पत्थर मारना शैतान के विरोध का प्रतीक है. मीना में शैतान का प्रतीक तीन विशाल खंभों के रूप में मौजूद है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -