गुजरात चुनाव में धन बल और बाहुबल का गठजोड़

नई दिल्ली : गुजरात चुनाव का दूसरा और अंतिम दौर 14 दिसंबर को पूरा हो जाएगा.18 दिसंबर को परिणाम भी आ जाएंगे . लेकिन लोकतंत्र में यह विडंबना कायम रहेगी कि इस चुनाव में खड़े होने वाले 4 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. जबकि 418 उम्मीदवार करोड़पति हैं .धन बल और बाहु बल की यह बढ़ती पृवत्ति भविष्य के लिए खतरनाक है.यह खुलासा गैर सरकारी संगठन के अध्ययन से पता चला है.

उल्लेखनीय है कि चुनावी एवं राजनीतिक सुधार के क्षेत्र में कार्यरत गैर सरकारी संगठन ‘एसोसिएशन फोर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (एडीआर) और गुजरात इलेक्शन वॉच ने अपने अध्ययन इस बात का खुलासा हुआ है .चुनाव आयोग को सौंपे उम्मीदवारों के शपथपत्रों के अध्ययन से पता चला कि 253 उम्मीदवारों में से 154 पर हत्या, हत्या की कोशिश, अपहरण, महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं.इनमें कांग्रेस के 56 जबकि भाजपा के 46 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. इसी तरह 418 करोड़पति उम्मीदवारों में से 147 भाजपा के जबकि 129 कांग्रेस के हैं.

आपको बता दें कि चुनाव में खड़े हुए प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 2.22 करोड़ रुपये के करीब है, जबकि 2012 के चुनाव में खड़े 1,283 उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.46 करोड़ रुपये थी. एक चिंताजनक जानकारी यह भी है कि कुल 182 विधानसभा क्षेत्रों में से ‘‘रेड अलर्ट’’ निर्वाचन क्षेत्र में भी इजाफा हुआ है, इस बार 35 क्षेत्र ऐसे हैं जहां तीन या उससे अधिक उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले हैं. जबकि 2012 में इस तरह के 25 विधानसभा क्षेत्र थे.मतलब दस निर्वाचन इलाकों की वृद्धि हुई है.जो बढ़ते अपराध क्षेत्र का प्रतीक है.

यह भी देखें

‘चुनावी बहस में पाक को घसीटना बंद करे भारत’- पाक विदेश मंत्रालय

अपनी ही पार्टी के खिलाफ शत्रुघ्न ने किया ट्वीट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -