अब महिला पायलट भी उड़ाऐंगी लड़ाकू विमान

गाजियाबाद : वायुसेना में अब महिला पायलट्स भी लड़ाकू विमान उड़ाऐंगी। वायुसेना के प्रमुख अरूप राहा द्वारा हिंडन एयरबेस पर एयरफोर्स डे सेलिब्रेशन के तहत इस तरह की बात कही। यही नहीं अगर केंद्र सरकार द्वारा इसे स्वीकृति दे दी जाती है तो महिला पायलट्स भी फाईटर प्लेन उड़ाते हुए अपनी बहादुरी का प्रदर्शन कर सकेगी। यह पहली बार होगा जब वायुसेना के काॅम्बैट मिशन में वुमन पायलट्स दिखाई देंगी। मिली जानकारी के अनुसार इस तरह के निर्णय को लेकर सेना और नौसेना आपस में तालमेल बना सकती हैं।

राहा द्वारा वर्ष 2014 में बयान दिया गया था कि महिलाऐं फाईटर पायलट बनने के लिए मानसिकतौर पर और शारीरीक तौर पर फिट नहीं होती हैं यह एक चुनौतिपूर्ण कार्य है। मगर अब इसे दरकिनार करते हुए उन्हें विमान उड़ाने की अनुमति मिल गई है। यदि उन्हें प्रेग्नेंसी हो या फिर कोई चिकित्सकीय परेशानी होतो वे इस तरह के विमान नहीं उड़ा सकेंगी। एयरफोर्स डे में सेलिब्रेशन के दौरान 83 वें एयरफोर्स-डे पर जवानों द्वारा परेड का आयोजन किया गया।

जिसके बाद तीन एमआई-17 वी 5 हेलिकाॅप्टर्स का फ्लाई पास्ट किया गया है। इवेंट में आकाश गंगा एरोबैटिक स्क्वार्डन ड्राईवर्स द्वारा हवा में करतब दिखाए गए। उल्लेखनीय है कि एयरफोर्स में महिलाओं की भागीदारी सबसे अधिक हैं। एयरफोर्स में महिला पायलट द्वारा ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट व हेलिकाॅटर्स उड़ाए गए। फोर्स में सात विंग में महिलाऐं काम कर रही हैं। एडमिनिस्ट्रेशन, लाॅजिस्टक्स, मीटियरोलाॅजी, नेविगेशन, शिक्षा आदि क्षेत्र आते हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -