Share:
क्यों नाराज हैं  जस्टिस कुरियन ?
क्यों नाराज हैं जस्टिस कुरियन ?

नई दिल्ली : इन दिनों देश की सर्वोच्च अदालत ज्यादा चर्चा में है.इस बीच अब जस्ट‍िस कुरियन की सीजे को लिखी चिट्ठी का मामला सामने आया है.जिसमें उन्होंने सु‍प्रीम कोर्ट का अस्तित्व खतरे में बताया है. इससे सरकार और सुप्रीम कोर्ट के बीच टकराव बढ़ने की आशंका व्यक्त की जा रही है.

बता दें कि जस्टिस कुरियन ने सर्वोच्च अदालत के मुख्य न्यायाधीश को लिखे पत्र में कहा कि कोलेजियम द्वारा एक जज और एक वरिष्ठ वकील को तरक्की देकर सर्वोच्च न्यायालय में लाने की सिफारिश को दबा कर बैठे रहने के सरकार के अभूतपूर्व कदम पर यदि कोर्ट ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी तो इतिहास हमें माफ नहीं करेगा. ज़ाहिर है कुरियन की चिट्ठी में की गई इस टिप्पणी से सरकार तथा सुप्रीम कोर्ट के बीच टकराव की संभावना है. कुरियन ने चीफ जस्टिस से स्वत: संज्ञान लेते हुए सात वरिष्ठ जजों की बेंच के द्वारा सुनवाई किए जाने की मांग की है.

गौरतलब है कि जस्ट‍िस कुरियन ने अपने पत्र में कोलेजियम के फरवरी के उस निर्णय का हवाला दिया जिसमें वरिष्ठ वकील इंदु मल्होत्रा और उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्ट‍िस के.एम. जोसेफ को सुप्रीम कोर्ट में जज बनाने की सिफारिश की गई .लेकिन सिफारिश के बावजूद सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की.कुरियन को इस मामले में चीफ जस्टिस की तटस्थता पर आपत्ति है. स्मरण रहे कि गत 12 जनवरी को जस्ट‍िस कुरियन जोसेफ सहित चार जजों नेदेश के इतिहास में पहली बार एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चीफ जस्टिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे.इस मामले ने भी खूब तूल पकड़ा था.

यह भी देखें

सुप्रीम कोर्ट के दर पर नेता की बेटी, ये है मामला...

प्रधान न्यायाधीश समकक्षों में प्रथम - सुप्रीम कोर्ट

 

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -