विश्व हिंदू परिषद के संरक्षक अशोक सिंघल का निधन
विश्व हिंदू परिषद के संरक्षक अशोक सिंघल का निधन
Share:

गुड़गांव : विश्व हिंदू परिषद के संरक्षक अशोक सिंघल का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उन्होंने गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में आज अपराह्न करीब  3 बजे अंतिम सांस ली। सिंघल को तबियत बिगड़ने पर गुड़गांव स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें श्वसन संबंधी परेशानी थी। 89 वर्ष की आयु में उन्होंने विहिप परिवार को अलविदा कहा। उनके निधन से विश्व हिंदू परिषद में शोक की लहर छा गई। सिंघल के अंतिम दर्शनों के लिए बड़े पैमाने पर विहिप, आरएसएस, भाजपा और अन्य पार्टियों के नेता पहुंचे।

हालांकि उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी लेकिन आज तबियत बिगड़ने के कारण उन्हें चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। जिसके बाद उन्होंने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। चिकित्सकों का दल उन्हें बचाने का प्रयास करता रहा। सिंघल का जन्म उत्तरप्रदेश के आगरा में 1926 को हुआ था। उनके पिता सरकारी नौकरी करते थे। वर्ष 1942 में वे आरएसएस से जुड़े थे। सिंघल अविवाहित थे। वे 20 वर्षों तक विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष रहे।

उनके निधन पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती, हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, श्रीराम जन्मभूमि न्यास बोर्ड के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडि़या, संगठन महामंत्री दिनेश चंद्र, संयुक्त महामंत्री विनायक राव देशपांडेय, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ हरियाणा के सह प्रांत संघचालक पवन जिंदल और कथावाचक साध्वी ऋतंभरा आदि मेदांता चिकित्सालय पहुंचे। 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -