संयुक्त राष्ट्र तक पहुंची कठुआ रेप केस की गूँज

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त देश के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कठुआ में आठ वर्षीय  बच्ची के साथ दुष्कर्म व उसकी मर्डर के मामले को ''भयावह'' करार देते हुए , इस जघन्य क्राइम को अंजाम देने वाले आरोपियों को कानून के दायरे में लाए जाने की उम्मीद जाहिर की है. गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने शुक्रवार (13 अप्रैल) को दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ''मैंने बच्ची के साथ दुष्कर्म के इस जघन्य क्राइम की मीडिया रिपोर्ट देखी हैं , हमें उम्मीद है कि ऑफिसर अपराधियों को कानून के दायरे में लाएंगे ताकि बच्ची के साथ दुष्कर्म व उसकी मर्डर के मामले में उन्हें सजा दी जाए . '' बच्ची के साथ दुष्कर्म व उसकी मर्डर के मामले पर महासचिव की रिएक्शन पूछे जाने पर दुजारिक ने यह बयान दिया.

आपको बता दें कि इस मामले में क्राइम शाखा के एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है,  अभी तक दो पुलिस अधिकारियों सहित आठ लोगों की गिरफ्तारी की गई है. इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने बीते 13 अप्रैल को मामले पर अपनी नाराजगी प्रकट करने हुए इसे राष्ट्र के लिए ''शर्मनाक'' करार दिया व अपराधियों को बख्शे न जाने की बात कही थी. उन्होंने कहा था, ''मैं राष्ट्र को यह आश्वासन देना चाहता हूं कि कोई क्रिमिनल बख्शा नहीं जाएगा, हमारी बेटियों को इंसाफ मिलेगा. ''

पीएम मोदी ने कहा था, ''जिस तरह की घटनाएं हमने बीते दिनों में देखीं हैं, वो सामाजिक न्याय की अवधारणा को चुनौती देती हैं , पिछले दो दिनो से जो घटनाएं चर्चा में है वह निश्चित रूप से किसी भी सभ्य समाज के लिये शर्मनाक है, '' पीएम ने कहा, ''एक समाज के रूप में, एक राष्ट्र के रूप में हम सब इसके लिए शर्मसार है.''  अब देखना यह है कि जिस वीभत्स अपराध ने पुरे विश्व को हिलाकर रख दिया है, उसेक खिलाफ भारत सरकार क्या कदम उठाती है, या फिर मामला कड़ी निंदा और ठोस कदम तक ही सिमट कर रह जाता है.  

कठुआ-उन्नाव गैंग रेप : बॉलीवुड सेलेब्स ने शुरू किया #JusticeForOurChild कैम्पेन

इलाहाबाद: "बीजेपी वाले न आएं, यहाँ औरतें-बच्चियां रहती हैं "

कठुआ दुष्कर्म: 4 आरोपी पुलिसकर्मी बर्खास्त

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -