Share:
मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना के तहत अनेक सेक्टरों में युवाओं को प्रशिक्षण के साथ मिलेगी कमाई
मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना के तहत अनेक सेक्टरों में युवाओं को प्रशिक्षण के साथ मिलेगी कमाई

इंदौर। जिले में मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना का प्रभावी क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत अनेक सेक्टरों में विभिन्न पाठ्यक्रमों के तहत युवाओं को प्रशिक्षण देने के साथ ही कमाई का अवसर भी दिया जा रहा है। इंदौर जिले में निजी क्षेत्र के 1521 प्रतिष्ठानों ने युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिये अपना पंजीयन कराया है। इन प्रतिष्ठानों 6 हजार 900 युवाओं को अपने संस्थानों में प्रशिक्षित करने की सहमति प्रदान की है। इन रिक्तियों के विरूद्ध 4319 युवाओं ने अपना पंजीयन भी करा लिया है।

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के अंतर्गत चयनित युवाओं को 8 हजार रूपए से लेकर 10 हजार रूपए तक का प्रतिमाह मानदेय भी दिया जाएगा। प्रशिक्षण के पश्चात युवा आकर्षक वेतन पर निजी/ शासकीय क्षेत्र के प्रतिष्ठानों में नौकरी भी प्राप्त कर सकते हैं। मुख्यमंत्री सीखो-कमाओ योजना जहां एक ओर युवाओं के लिए तो लाभप्रद है ही दूसरी ओर निजी क्षेत्र के प्रतिष्ठानों के लिए भी लाभदायक है। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की विशेष पहल पर लागू की गई मुख्यमंत्री सीखो कमाओं योजना का इंदौर जिले में प्रभावी क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत अभी तक 1521 इकाईयों ने अपना पंजीयन कराया है। इन इकाईयों द्वारा लगभग 6900 युवाओं को विभिन्न ट्रेड के अंतर्गत प्रशिक्षित करने और उन्हें मानदेय देने के लिये अपनी वेकैन्सी दर्ज कराई है। इन वैकेन्सी के विरूद्ध युवाओं के आवेदन करने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। जिले में अभी तक 4319 युवाओं ने अपना पंजीयन करा लिया है। इच्छुक युवा मुख्यमंत्री सीखो कमाओं योजना की अधिकृत वेबसाइट www.mmsky.gov.in पर जाकर अपना पंजीयन करा सकते हैं। इन योजना में पंजीयन के लिये आधार से समग्र आईडी का ई-केवाईसी सत्यापन होना आवश्यक है।

इच्छुक युवा अपनी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार अपनी रूचि के कोर्स में प्रशिक्षण ले सकते हैं। युवा अपनी रूचि के कुल 30 कोर्स का ऑप्शन दे सकते हैं। बताया गया कि इंदौर में प्राथमिकता वाले 15 सेक्टर में बड़ी संख्या में कपंनियों द्वारा रिक्तियां दर्ज कराई गई हैं। इनमें इलेक्ट्रिकल क्षेत्र में 1231, कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में 1145, प्रोडक्शन एण्ड मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में 1009, आईटी-आईटीईएस क्षेत्र में 446, टूरिज्म एण्ड हॉस्पिटैलिटी क्षेत्र में 387, मैनेजमेंट एण्ड इंट्रेप्रेन्योशिप एण्ड प्रोफाइल क्षेत्र में 289, अपेरल मेड-अप्स एण्ड होम फर्निशिंग क्षेत्र में 262, फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र में 258, ऑटोमोबाइल क्षेत्र में 226, लाइफ साइंस क्षेत्र में 164, ऑटोमोटिव क्षेत्र में 160, अपेरल क्षेत्र में 160, फेब्रिकेशन क्षेत्र में 142, बैंकिंग एण्ड फाइनेंस सर्विसेस एण्ड इंश्योरेंस क्षेत्र में 118, इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में 116, टेक्सटाइल क्षेत्र में 94, आयरन एण्ड स्टील क्षेत्र में 87, लॉजिस्टिक क्षेत्र में 80, एग्रीकल्चर क्षेत्र में 64 तथा हेल्थ केयर सेक्टर में 62 रिक्तियां है।

कमजोर दिल वाले भूलकर भी ना जाए मध्य प्रदेश की इन 10 जगहों पर...

CM शिवराज की अध्यक्षता में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक, 8 नवीन शासकीय महाविद्यालयों की स्थापना को मिली मंजूरी

मध्य प्रदेश के मनमोहक एवं सबसे लोकप्रिय स्थल

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -