यूएन ने उत्तर कोरिया को किया बेन

जिनेवा। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगा दिया है। दरअसल, उत्तर कोरिया द्वारा मिसाईलों के परीक्षण की बात करने और अमेरिका विरोधी रूख अपनाकर युद्ध की परिस्थियों को निर्मित करने के कारण, यह प्रतिबंध लगाया गया है। उत्तर कोरिया, की तेल आपूर्ति को रोक दिया गया है। इसके अतिरिक्त, विदेशों में कार्य करने वाले उत्तर कोरियाई लोगों को उनके देश लौटने का आदेश दिया गया है।

इसे महत्वपूर्ण निर्णय दिया गया है। इसे आर्थिक दबाव बनाकर, उसे विश्वभर में अलग - थलग किए जाने की संभावनाऐं हैं। अमेरिका, द्वारा प्रस्तावित किए गए, इस तरह के प्रतिबंधों का किसी ने विरोध नहीं किया और इस तरह से 15.0 से यह स्वीकृत हो गया। सुरक्षा परिषद में इस तरह के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से स्वीकृत कर लिया गया। उत्तर कोरिया हेतु डीजल और केरोसीन सहित, लगभग 89 प्रतिशत रिफाइंड पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात को प्रतिबंधित किया गया है।

प्रतिबंध के तहत अब उत्तर कोरिया खाद्य उत्पादों, मशीनों, लकड़ी, विद्युत उपकरण और पत्थर आदि का निर्यात नहीं कर सकेगा। अमेरिका द्वारा, रखे गए प्रस्ताव का समर्थन उत्तर कोरिया के समर्थक देश, चीन व रूस ने किया है। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने इस तरह के प्रस्ताव पर चीन ने सहयोग की सराहना की। संयुक्त राष्ट्र में कई तरह के प्रतिबंध प्रभावी हैं। उन्होंने कहा कि, प्रतिबंध के बाद भी यदि, उत्तर कोरिया नहीं माना तो फिर उस पर कड़े प्रतिबंध लगाए जाऐंगे और उसे अलग - थलग किया जाएगा।

कोरियाई प्रायद्वीप पर युद्ध के बादल मंडराए

संयुक्त राष्ट्र की उत्तर कोरिया पर सख्ती

कोरियाई प्रायद्वीप के ऊपर इकट्ठा होने लगे है तूफानी बादल

दक्षिण कोरिया अमेरिका से 20 लड़ाकू विमान खरीदेगा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -