Share:
16 और 17 फरवरी को नहीं  मिल सकेगा सरकारी अस्पतालो में इलाज
16 और 17 फरवरी को नहीं मिल सकेगा सरकारी अस्पतालो में इलाज

इन्दौर। शहर में 16 फरवरी को 2 घंटे तो 17 फरवरी से सुपर स्पेशलिटी , एमटीएच (MTH) सहित जिले के सरकारी अस्पतालों में भी मरीजों को इलाज नहीं मिल सकेगा। पूरे मध्यप्रदेश के सभी डॉक्टर एक साथ हड़ताल पर चले जाएंगे।

इंदौर जिले के 2000 चिकित्सक साथ ही पूरे प्रदेश के 10,000 चिकित्सक एक साथ काम बंद करने जा रहे हैं।15 फरवरी से काली पट्टी बांधकर काम शुरू किया जाएगा, वहीं 16 फरवरी को 2 घंटे काम बंद कर सरकार को एक बार फिर डॉक्टरों द्वारा चेतावनी का एलान किया जायेगा । यदि इसके बावजूद भी मांगे नहीं मानी गई तो 17 फरवरी से पूरे प्रदेश में सरकारी अस्पतालों में मरीजों को इलाज नहीं मिल सकेगा। ज्ञात हो कि एमवाय अस्पताल में प्रतिदिन हजारों की तादाद में मरीज ओपीडी के लिए पहुंचते हैं, वही हजारों की तादाद मेंं गंभीर मरीज भी इलाज के लिए भर्ती किए जाते हैं, साथ ही पूरे संभाग में होने वाली दुर्घटना के पीडि़त भी इलाज के लिए लाए जाते हैं। यह सभी व्यवस्थाओ से मरीज वंचित  रहे जायेंगे।

मेडिकल ऑफिसर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर माधव हसानी ने बताया कि 40 जिलों की 6000 किलोमीटर की यात्रा के दौरान सभी सरकारी अस्पतालों और चिकित्सकों से जानकारी जुटाई गई है, जिसके बाद 7 फरवरी को भोपाल में सरकार को ज्ञापन सौंपते हुए चेतावनी भी दी गई है, लेकिन उसके बावजूद भी कोई सुनवाई नहीं की जा रही है। डॉक्टरों को अपनी मांगे मनवाने के लिए मजबूरी में कठोर होना पड़ रहा है, जिसके तहत 16 तारीख को 2 घंटे काम बंद रखने के बाद 17 से आंदोलन शुरू किया जाएगा। 17 फरवरी से डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के बाद मरीजों को देखरेख के लिए प्राइवेट अस्पतालों के भरोसे रहना होगा।

21 हज़ार से ऊपर पहुंचा मृतकों का आंकड़ा, तुर्की-सीरिया में अब भी कई साँसे मलबे में अटकीं

आज ही के दिन हुई थी भारत में लोकतंत्र की स्थापना, जानिए 10 फरवरी का इतिहास

15000+ मौतें, हज़ारों इमारतें ध्वस्त.., तुर्की में भूकंप का विनाश जारी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -