रंगदारी मांगने वालों को पुलिस ने दबोचा

झारखण्ड : अनुमंडल अस्पताल, बुंडू के डॉ. उपेंद्र दास से 50 लाख रुपए रंगदारी मांगनेवाले तीन युवकों को पुलिस द्वारा 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने का मामला सामने आया है. पुलिस ने तीन आरोपियों को जमशेदपुर के बस स्टेण्ड से पकड़ा.बता दें कि गौतम ग्रीन सिटी में रहनेवाले डॉ. उपेंद्र ने 17 फरवरी को रंगदारी मांगने की रिपोर्ट मेसरा ओपी में दर्ज कराई थी.जिसमें कहा था कि रंगदारी नहीं देने पर उनके बेटे की हत्या कर दी जाएगी. डॉक्टर से रंगदारी मांगने का किस्सा भी बड़ा अजीब है.

इस बारे में सदर डीएसपी विकास चंद्र श्रीवास्तव ने मीडिया को बताया कि डॉ. उपेंद्र का बेटा एक माह पहले अपने जमशेदपुर वाले दोस्त से मिलने बाइक से जमशेदपुर गया था. वहां उसकी बाइक खराब हो गई. बाइक ठीक कराने का बिल 17 हजार रुपए बना.बेटे नेे पिता को फोन कर यह बात बताई. इस पर पिता ने दोस्त का खाता नंबर माँगा लेकिन, उसके दोस्त का बैंक खाता नहीं था.उसने अपने एक अन्य साथी शुभम यादव का बैंक खाता दिया. डॉक्टर ने शुभम के खाते में 17 हजार रुपए जमा कर दिए. इसके बाद शुभम ने सोचा कि चंद मिनटों में इतने रुपए आ गए, तो क्यों नहीं डॉक्टर से बड़ी रकम वसूली जाए. इसके बाद शुभम ने अपने दो दोस्तों विशाल हेंब्रम (20 अौर शिवम सिंह (20) के साथ मिलकर रंगदारी वसूलने की योजना बनाई.

योजना अनुसार एकआरोपी युवक ने डॉ. उपेंद्र के मोबाइल पर फोन कर जमशेदपुर के अपराधी अखिलेश सिंह के नाम पर 50 लाख की रंगदारी मांगी. पैसे नहीं देने पर बेटे की हत्या की धमकी दी.डॉक्टर ने इसकी सूचना पुलिस को दी. तय योजना के अनुसार डॉक्टर ने 80 हजार देने की बात कही. अभियुक्तों ने डॉक्टर को पहले बुंडू के दिउड़ी मंदिर के पास, फिर जमशेदपुर बुलाया. जमशेदपुर बस स्टैंड पर डॉक्टर नेे जैसे ही आरोपियों को रूपए दिए, पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ें 

25 लाख के इनामी नक्सली का समर्पण

झारखंड के 2 बैंको में हुई 49 लाख से ज्यादा की लूट

Most Popular

- Sponsored Advert -