Share:
कम उम्र में भी बढ़ रहा है दिल के दौरे का खतरा, ऑफिस जाने वाले लोग ऐसे रखें अपना ध्यान
कम उम्र में भी बढ़ रहा है दिल के दौरे का खतरा, ऑफिस जाने वाले लोग ऐसे रखें अपना ध्यान

आज की तेज़-तर्रार दुनिया में, युवा कामकाजी पेशेवरों में भी हृदय संबंधी बीमारियाँ तेजी से प्रचलित हो रही हैं। गतिहीन जीवनशैली, व्यायाम की कमी और अस्वास्थ्यकर खान-पान की आदतों का संयोजन हृदय रोगों की बढ़ती घटनाओं में योगदान दे रहा है। हालाँकि हृदय स्वास्थ्य से समझौता होने के पीछे कई कारक हो सकते हैं, लेकिन कामकाजी पेशेवरों के लिए यह आवश्यक है कि वे अपने हृदय संबंधी स्वास्थ्य को प्राथमिकता दें। फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट, ओखला में इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के वरिष्ठ सलाहकार डॉ. विवुध प्रताप सिंह, कामकाजी पेशेवर अपने हृदय स्वास्थ्य की देखभाल कैसे कर सकते हैं, इस बारे में बहुमूल्य जानकारी प्रदान करते हैं। हृदय का स्वास्थ्य हर किसी के लिए महत्वपूर्ण है, लेकिन कठिन नौकरियों वाले व्यक्तियों को अक्सर अतिरिक्त तनाव का सामना करना पड़ता है जो उनके हृदय स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। आइए कुछ प्रमुख युक्तियों पर गौर करें जो कामकाजी पेशेवरों को स्वस्थ हृदय बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

नियमित व्यायाम
नियमित शारीरिक गतिविधि हृदय स्वास्थ्य की आधारशिला है। प्रति सप्ताह कम से कम 150 मिनट मध्यम एरोबिक व्यायाम या 75 मिनट उच्च तीव्रता वाले वर्कआउट में संलग्न होने का लक्ष्य रखें। इसके अतिरिक्त, सप्ताह में कम से कम दो दिन शक्ति प्रशिक्षण अभ्यास शामिल करें। व्यायाम को रोजमर्रा के काम के बजाय अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने के लिए ऐसी शारीरिक गतिविधियाँ चुनें जिनमें आपको आनंद आता हो।

संतुलित आहार
संतुलित आहार बनाए रखें जिसमें फल, सब्जियाँ, साबुत अनाज, दुबला प्रोटीन और स्वस्थ वसा शामिल हों। चीनी और अत्यधिक नमक का सेवन कम करते हुए संतृप्त और ट्रांस वसा से बचें। अधिक खाने से बचने के लिए अपने हिस्से के आकार को नियंत्रित करें।

तनाव 
तनाव से निपटने के लिए ध्यान, योग, गहरी सांस लेने के व्यायाम और माइंडफुलनेस जैसी विश्राम तकनीकों को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। सीमाएँ निर्धारित करके और दैनिक कार्यक्रम स्थापित करके स्वस्थ कार्य-जीवन संतुलन के लिए प्रयास करें।

नियमित स्वास्थ्य जांच
अपने रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल के स्तर और समग्र हृदय स्वास्थ्य की निगरानी के लिए अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के साथ नियमित स्वास्थ्य जांच का समय निर्धारित करें। यदि आपके परिवार में हृदय रोग का इतिहास है, तो अपने डॉक्टर को सूचित करें ताकि उचित सावधानी बरती जा सके।

धूम्रपान छोड़ने
यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो इसे छोड़ने के लिए ठोस प्रयास करें। अपने परिवार, दोस्तों और स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों से समर्थन मांगें। धूम्रपान हृदय रोग के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है, और इसे छोड़ने से आपके हृदय स्वास्थ्य में काफी सुधार हो सकता है।

मध्यम शराब का सेवन
अपने शराब के सेवन को मध्यम स्तर तक सीमित रखें। महिलाओं के लिए, इसका मतलब आम तौर पर प्रति दिन एक से अधिक पेय नहीं है, जबकि पुरुषों को प्रति दिन दो से अधिक पेय का लक्ष्य नहीं रखना चाहिए। अत्यधिक शराब का सेवन आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकता है।

स्वस्थ वजन बनाए रखें
स्वस्थ वजन बनाए रखने का प्रयास करें जो आपके शरीर के प्रकार और ऊंचाई के लिए उपयुक्त हो। अतिरिक्त वजन कम करने से आपके हृदय स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

हाइड्रेटेड रहना
पूरे दिन पर्याप्त पानी पीकर सुनिश्चित करें कि आपका शरीर पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड रहे। निर्जलीकरण आपके हृदय प्रणाली पर दबाव डाल सकता है।

पर्याप्त नींद को प्राथमिकता दें
प्रत्येक रात 7 से 9 घंटे की गुणवत्तापूर्ण नींद का लक्ष्य रखें। पर्याप्त नींद आपके शरीर को आराम और मरम्मत करने की अनुमति देती है, जिससे आपके हृदय स्वास्थ्य को लाभ होता है।

कार्यस्थल पर सक्रिय रहें
यदि आपके काम के लिए लंबे समय तक बैठने की आवश्यकता है, तो खड़े होने, खिंचाव करने या घूमने के लिए ब्रेक लें। यदि संभव हो तो स्टैंडिंग डेस्क या एर्गोनोमिक वर्कस्टेशन का उपयोग करने पर विचार करें।

मजबूत सामाजिक संबंध विकसित करें
दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताकर एक मजबूत सामाजिक सहायता प्रणाली बनाए रखें। मजबूत सामाजिक संबंध आपकी भावनात्मक भलाई में सुधार कर सकते हैं, जो बदले में आपके हृदय स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है।

चेतावनी संकेतों को पहचानें
दिल के दौरे या स्ट्रोक के चेतावनी संकेतों के बारे में खुद को शिक्षित करें और यदि आप या आपके आस-पास कोई व्यक्ति इन लक्षणों का अनुभव करता है तो तुरंत कार्रवाई करें। त्वरित चिकित्सा सहायता जीवन बचाने वाली हो सकती है।

अपने दिल के स्वास्थ्य की देखभाल करना एक आजीवन प्रतिबद्धता है, और यह उन कामकाजी पेशेवरों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जो अक्सर तनाव और जीवनशैली चुनौतियों का सामना करते हैं। इन युक्तियों को धीरे-धीरे अपनी दिनचर्या में शामिल करके, आप हृदय रोगों के जोखिम को कम कर सकते हैं और अपने समग्र स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं। अपने हृदय स्वास्थ्य के व्यक्तिगत मार्गदर्शन और निगरानी के लिए किसी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से परामर्श लें। याद रखें कि स्वस्थ हृदय लंबे और पूर्ण जीवन की नींव है।

बंगाल में कहर बरपा रहा डेंगू, 38 हज़ार से अधिक केस आए सामने, दुर्गा पूजा से पहले ममता सरकार की मुश्किलें बढ़ीं

'आपकी लंबी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना..', डॉ मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर पीएम मोदी ने दी बधाई

आज 51 हज़ार युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटेंगे पीएम मोदी, रक्षा-स्वास्थ्य सहित इन विभागों में मिलेगी नौकरी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -