दलितों के प्रवेश से अशुद्ध हुए मंदिर को शुद्ध करने की हो रही तैयारी

देहरादून : सांसद तरूण विजय के ही साथ दलितों द्वारा उत्तराखंड के जौनसर बावर स्थित पोखरी गांव के सिल्गुर मंदिर में प्रवेश करने को लेकर बवाल मच गया है। जहां इस मामले में तरूण वियज के साथ मारपीट की गई वहीं अब मंदिर में शुद्धीकरण किया जा रहा है। दरअसल मंदिर के प्रबंधकों ने हवाला दिया है कि दलितों के प्रवेश क कारण यह मंदिर अशुद्ध हो गया है। ऐसे में मंदिर की शुद्धता के लिए यहां पर 9 दिन लंबा शुद्धिकरण अनुष्ठान करवाया जाएगा।

मंदिर समिति के पदाधिकारी ने कहा कि सिल्गुर देवता की देव डोली 36 वर्ष बाद गांव में आएगी। प्रबंधकों ने कही है कि देवता परेशान हैं। उन्हें प्रसन्न करने के लिए 9 दिवसीय शुद्धीकरण अनुष्ठान चलाया जाएगा। इस मामले में कहा गया है कि क्षेत्र के अधिकांश दलित अपना घर छोड़कर इस क्षेत्र से जा रहे हैं।

दलितों पर हुए हमले के दौरान दौलत कुंवर भी घायल हो गए थे। ऐसे में करीब 100 ग्रामीणों ने अस्पताल में भर्ती ग्रामीणों से भेंट की और कहा कि जब तक उनकी सुरक्षा तय नहीं हो जाती तब तक वे यहां वापस नहीं लौटेंगे। राजस्व पुलिस की संयुक्त टीम और पुलिस ने छापेमारी कर आरोपियों की तलाश की। ऐसे में एक आरोपी पकड़ा गया। पुलिस इससे पूछताछ करने में जुटी है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -