Share:
सर्दियों में इस तरह रखें आंखों का ख्याल, खुजली, जलन और ड्राईनेस से मिलेगी राहत
सर्दियों में इस तरह रखें आंखों का ख्याल, खुजली, जलन और ड्राईनेस से मिलेगी राहत

सर्दी सर्द हवाओं, आरामदायक शामों और उत्सव की खुशियों का मौसम है। हालाँकि, आकर्षण के बीच, यह कुछ चुनौतियाँ भी लाता है, खासकर आपकी आँखों के लिए। ठंड का मौसम अक्सर खुजली, जलन और सूखापन लाता है, जिससे सर्दियों के महीनों के दौरान आंखों की देखभाल को प्राथमिकता देना महत्वपूर्ण हो जाता है। आइए इस पूरे मौसम में आपकी आंखें स्वस्थ और आरामदायक रहें यह सुनिश्चित करने के लिए व्यापक सुझावों पर गौर करें।

1. अंदर से बाहर तक हाइड्रेट करें

1.1 खूब पानी पियें

पूरे वर्ष हाइड्रेटेड रहना महत्वपूर्ण है, और सर्दी कोई अपवाद नहीं है। सर्द मौसम के कारण आपको प्यास नहीं लगेगी, लेकिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीना महत्वपूर्ण है। उचित जलयोजन सुनिश्चित करता है कि आपका शरीर बेहतर ढंग से काम करे, जिसमें आपकी आंखों की चिकनाई भी शामिल है। निर्जलीकरण से सूखी आँखें और जलन हो सकती है, इसलिए प्रतिदिन पर्याप्त पानी पीने का सचेत प्रयास करें।

हीटिंग सिस्टम के कारण बाहर और अंदर दोनों जगह सर्दियों की हवा शुष्क हो जाती है। यह सूखापन आंखों की परेशानी में योगदान कर सकता है। इसका प्रतिकार करने के लिए, कृत्रिम आँसू या चिकनाई वाली आई ड्रॉप का उपयोग करना आवश्यक है। ये बूंदें आपकी आंखों में नमी को फिर से भरने में मदद करती हैं, जिससे सूखापन और जलन से तुरंत राहत मिलती है।

2.2 ह्यूमिडिफ़ायर का विकल्प चुनें

इनडोर हीटिंग सिस्टम हवा की प्राकृतिक नमी को छीनकर आंखों की शुष्कता को और बढ़ा सकता है। आपके रहने या काम करने की जगह में ह्यूमिडिफायर लगाने से इससे निपटने में मदद मिल सकती है। ह्यूमिडिफ़ायर हवा में वापस नमी जोड़ता है, जिससे आपकी आँखों को सूखने से बचाया जा सकता है। यदि आप गर्म वातावरण में लंबे समय तक समय बिताते हैं तो यह विशेष रूप से फायदेमंद है।

3. अपनी आंखों को तत्वों से बचाएं

3.1 धूप का चश्मा पहनें

धूप का चश्मा अक्सर गर्मियों के धूप वाले दिनों से जुड़ा होता है, लेकिन सर्दियों में भी ये उतने ही महत्वपूर्ण होते हैं। सर्दियों की धूप, बर्फ जैसी परावर्तक सतहों के साथ मिलकर, हानिकारक यूवी किरणों को आपकी आंखों तक पहुंचा सकती है। लंबे समय तक संपर्क में रहने से असुविधा और संभावित क्षति हो सकती है। धूप के चश्मे की एक अच्छी जोड़ी में निवेश करें जो सर्दियों की धूप से आपकी आँखों को बचाने के लिए यूवी सुरक्षा प्रदान करती है।

3.2 सुरक्षात्मक चश्मे का प्रयोग करें

शीतकालीन खेल और बाहरी गतिविधियाँ आपकी आँखों को हवा और मलबे जैसे कठोर तत्वों के संपर्क में लाती हैं। चश्मा जैसे सुरक्षात्मक चश्मे पहनने से जलन और चोट से बचा जा सकता है। चाहे आप स्कीइंग कर रहे हों, स्नोबोर्डिंग कर रहे हों, या अन्य शीतकालीन गतिविधियों में शामिल हों, स्पष्ट और आरामदायक दृष्टि सुनिश्चित करने के लिए आंखों की सुरक्षा को प्राथमिकता दें।

4. 20-20-20 नियम का पालन करें

4.1 आंखों का तनाव कम करें

हमारे डिजिटल युग में, लंबे समय तक स्क्रीन पर रहना लगभग अपरिहार्य है। चाहे आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हों, टीवी देख रहे हों, या अपने फ़ोन पर स्क्रॉल कर रहे हों, आपकी आँखों पर दबाव पड़ सकता है। इसे कम करने के लिए 20-20-20 नियम का पालन करें। हर 20 मिनट में एक ब्रेक लें और कम से कम 20 सेकंड के लिए 20 फीट दूर किसी चीज़ को देखें। यह सरल अभ्यास आंखों के तनाव को कम करने में मदद करता है और विस्तारित स्क्रीन उपयोग के दौरान आपकी आंखों को अधिक आरामदायक रखता है।

5. स्वस्थ आहार बनाए रखें

5.1 आंखों के अनुकूल खाद्य पदार्थों को शामिल करें

आंखों के स्वास्थ्य में आहार महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कुछ पोषक तत्व, जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन सी और ई, और जिंक, आंखों के इष्टतम स्वास्थ्य को बनाए रखने में योगदान करते हैं। अपने आहार में मछली, मेवे, पत्तेदार सब्जियाँ और खट्टे फल जैसे खाद्य पदार्थ शामिल करें। ये न केवल आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाते हैं बल्कि आपकी आंखों को अच्छी तरह से काम करने के लिए आवश्यक आवश्यक पोषक तत्व भी प्रदान करते हैं।

6. पर्याप्त नींद

6.1 आराम को प्राथमिकता दें

एक अच्छी रात की नींद समग्र स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है, और आपकी आँखें कोई अपवाद नहीं हैं। नींद की कमी से आंखों में सूखापन, लालिमा और जलन हो सकती है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपकी आँखों को आवश्यक आराम मिले, हर रात 7-9 घंटे की गुणवत्तापूर्ण नींद का लक्ष्य रखें।

7. अपनी आँखें मलने से बचें

7.1 कोमल देखभाल

खुजली या थकान महसूस होने पर अपनी आँखों को रगड़ना एक सामान्य प्रवृत्ति है। हालाँकि, अपनी आँखों को रगड़ने से जलन बढ़ सकती है और संभावित रूप से अधिक महत्वपूर्ण समस्याएं पैदा हो सकती हैं। अपनी आंखों को धीरे-धीरे आराम देने के लिए रगड़ने के बजाय एक साफ, नम कपड़े का उपयोग करें। यह अतिरिक्त जलन पैदा करने वाले तत्वों को रोकता है और आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखता है।

8. नियमित रूप से पलकें झपकाते रहें

8.1 शुष्कता से मुकाबला

पलकें झपकाना आपकी आंखों को नम रखने और सूखेपन को रोकने का एक प्राकृतिक तरीका है। ऐसी गतिविधियों के दौरान जिनमें गहन फोकस की आवश्यकता होती है, जैसे कंप्यूटर पर काम करना या पढ़ना, हम कम बार पलकें झपकाते हैं। नियमित रूप से पलकें झपकाने का सचेत प्रयास करें, क्योंकि इससे आपकी आंखों में आंसुओं को समान रूप से वितरित करने में मदद मिलती है, जिससे सूखापन और असुविधा कम हो जाती है।

9. गर्म सेक

9.1 जलन को शांत करें

यदि आपको आंखों में जलन या सूखापन का अनुभव होता है, तो गर्म सेक से राहत मिल सकती है। अपनी बंद आंखों पर कुछ मिनटों के लिए गर्म सेक लगाएं। यह किसी भी परेशानी से राहत दिलाने और आपकी आंखों की प्राकृतिक नमी के संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है।

10. धुएँ और जलन पैदा करने वाली चीजों से बचें

10.1 धुएं से दूर रहें

धुआँ, चाहे सिगरेट का हो या अंगीठी का, आँखों के लिए विशेष रूप से परेशान करने वाला हो सकता है। आंखों की परेशानी और संभावित क्षति को रोकने के लिए धुएं के संपर्क में आने से बचें। यदि आप धुएँ वाले वातावरण में हैं, तो अपनी आँखों की सुरक्षा के लिए कदम उठाएँ, जैसे चश्मे का उपयोग करना या धुएँ के स्रोत से विपरीत दिशा में रहना।

11. किसी नेत्र देखभाल पेशेवर से परामर्श लें

11.1 नियमित जांच

आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए नियमित आंखों की जांच जरूरी है। भले ही आपको विशिष्ट समस्याओं का अनुभव न हो, ऑप्टोमेट्रिस्ट के पास नियमित रूप से जाने से संभावित समस्याओं का जल्द पता लगाने में मदद मिल सकती है। वे आंखों की उचित देखभाल पर मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं और आपकी किसी भी चिंता का समाधान कर सकते हैं।

12. DIY नेत्र व्यायाम

12.1 आंखों का तनाव दूर करें

आंखों के व्यायाम आंखों के तनाव को कम करने और लचीलेपन में सुधार करने में मदद कर सकते हैं। सरल व्यायाम, जैसे अपनी आँखें घुमाना या किसी दूर की वस्तु पर ध्यान केंद्रित करना, को अपनी दिनचर्या में शामिल किया जा सकता है। ये व्यायाम आंखों में रक्त के प्रवाह को बढ़ावा देते हैं और तनाव को कम करते हैं, जिससे आंखों के समग्र स्वास्थ्य में योगदान होता है।

13. सक्रिय रहें

13.1 नियमित व्यायाम करें

शारीरिक गतिविधि आपकी आँखों सहित आपके पूरे शरीर के लिए फायदेमंद है। नियमित व्यायाम स्वस्थ रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देता है, जो आंखों के इष्टतम कामकाज के लिए महत्वपूर्ण है। उन गतिविधियों में संलग्न रहें जो आपके शरीर को आपकी आंखों के स्वास्थ्य सहित समग्र कल्याण में सहायता करने के लिए प्रेरित करती हैं।

14. ब्लू लाइट फिल्टर का प्रयोग करें

14.1 डिजिटल आई स्ट्रेन को कम करें

जैसे-जैसे डिजिटल उपकरण हमारे दैनिक जीवन में शामिल होते जा रहे हैं, लंबे समय तक स्क्रीन पर रहने से आंखों पर डिजिटल दबाव पड़ सकता है। कई उपकरण अब नीली रोशनी फिल्टर के साथ आते हैं जो उत्सर्जित नीली रोशनी की मात्रा को कम करते हैं। डिजिटल आंखों के तनाव को कम करने के लिए इन फिल्टर का उपयोग करने पर विचार करें, खासकर यदि आप स्क्रीन के सामने लंबे समय तक बिताते हैं।

15. चश्में साफ रखें

15.1 स्पष्ट दृष्टि

यदि आप चश्मा पहनते हैं, तो स्पष्ट दृष्टि के लिए उन्हें साफ रखना आवश्यक है। गंदा या दागदार चश्मा आपकी आंखों पर दबाव डाल सकता है क्योंकि वे स्पष्टता की कमी की भरपाई करने की कोशिश करते हैं। इष्टतम दृष्टि बनाए रखने और अपनी आंखों पर अतिरिक्त तनाव को रोकने के लिए नियमित रूप से अपने चश्मे को लेंस क्लीनर और माइक्रोफाइबर कपड़े से साफ करें।

16. नेत्र स्वास्थ्य के बारे में सूचित रहें

16.1 सक्रिय रहें

आंखों के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए ज्ञान महत्वपूर्ण है। आंखों की सामान्य समस्याओं, लक्षणों और संभावित जोखिम कारकों के बारे में सूचित रहें। सक्रिय रहने और जरूरत पड़ने पर पेशेवर सलाह लेने से चिंताओं को जल्द ही दूर करने में मदद मिल सकती है, जिससे आगे की जटिलताओं को रोका जा सकता है।

17. DIY आई मास्क

17.1 विश्राम

DIY आई मास्क से अपनी आंखों की देखभाल करना तनाव दूर करने और सूजन को कम करने का एक सुखदायक तरीका है। आराम देने और थकान कम करने के लिए खीरे के टुकड़े या ठंडे टी बैग को बंद आंखों पर कुछ मिनटों के लिए रखा जा सकता है।

18. अपने कॉन्टैक्ट लेंस पर ध्यान दें

18.1 स्वच्छता प्रथाओं का पालन करें

यदि आप कॉन्टैक्ट लेंस पहनते हैं, तो उचित स्वच्छता प्रथाओं का पालन करना महत्वपूर्ण है। लेंस को संभालने से पहले अपने हाथ धोएं, अनुशंसित सफाई दिनचर्या का पालन करें और निर्देशानुसार लेंस बदलें। उचित लेंस स्वच्छता बनाए रखने में विफलता से संक्रमण और असुविधा हो सकती है।

19. अपनी स्क्रीन सेटिंग्स समायोजित करें

19.1 आराम के लिए अनुकूलन करें

आपके डिजिटल उपकरणों की चमक और कंट्रास्ट सेटिंग्स आंखों के तनाव को प्रभावित कर सकती हैं। देखने का आरामदायक अनुभव बनाने के लिए इन सेटिंग्स को समायोजित करें। स्क्रीन की चमक कम करने से, विशेषकर शाम के समय, तनाव कम करने और बेहतर नींद को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है।

20. समग्र दृष्टिकोण अपनाएं

20.1 समग्र कल्याण

यह पहचानें कि आंखों का स्वास्थ्य आपके समग्र स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। स्वास्थ्य के प्रति समग्र दृष्टिकोण अपनाने में स्वस्थ जीवनशैली बनाए रखना, सक्रिय रहना, तनाव का प्रबंधन करना और आत्म-देखभाल को प्राथमिकता देना शामिल है। एक समग्र दृष्टिकोण न केवल तत्काल राहत में बल्कि आपकी आँखों के दीर्घकालिक स्वास्थ्य में भी योगदान देता है। अंत में, सर्दियों के दौरान अपनी आंखों की देखभाल में सक्रिय उपायों और स्वस्थ आदतों का संयोजन शामिल है। इन सुझावों को अपनी दिनचर्या में शामिल करके, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपकी आंखें पूरे मौसम में आरामदायक और स्वस्थ रहें। याद रखें, आपकी आंखें हर मौसम में ध्यान और देखभाल की हकदार हैं।

'भाजपा को 50 सीट मिली, तो अपना मुंह काला कर लूंगा..', कांग्रेस प्रत्याशी फूलसिंह बरैया ने किया था दावा, अब पार्टी नेता ने अपने मुंह पर पोती कालिख

'जिनके साथ नाइंसाफी हुई, उन्हें न्याय दिलाने के लिए है ये बिल..', जम्मू-कश्मीर आरक्षण विधेयक पर लोकसभा में बोले अमित शाह

विश्व की सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में शामिल हुईं निर्मला सीतारमण, Forbes ने जारी की लिस्ट

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -