सबरीमाला मंदिर बोर्ड ने दिया विवादित बयान
सबरीमाला मंदिर बोर्ड ने दिया विवादित बयान
Share:

केरल: भारत में कई मंदिरो में महिलाओ का प्रवश निषेध है, इन मंदिरो में केवल पुरुष ही पूजा अर्चना के लिए जा सकते है, सुप्रीम कोर्ट मंदिरो में महिलाओ के प्रवेश केआदेश देता है, जिससे सभी को समान अधिकार की बात कही जाती है, ऐसा ही एक मामला केरल के सबरीमाला मंदिर का है, जहा सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओ के प्रवेश का आदेश, मंदिर बार्ड को दिया. लेकिन मंदिर की देख-रेख करने वाले त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड (टीडीबी) के चेयरमैन गोपालकृष्णन ने एक विवादित बयान देकर महिलाओं के मंदिर में प्रवेश निषेध बताया.

उल्लेखनीय है कि महिलाओं की एंट्री पर रोक को लेकर सुर्खियों में आए केरल के सबरीमाला मंदिर के बोर्ड ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है, मंदिर बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर विवादित बयान दिया है, मंदिर बोर्ड का कहना है कि '' वे महिलाओं की एंट्री पर राजी होकर मंदिर को थाईलैंड में तब्दील नहीं करना चाहते,'' ये बयान मंदिर की देख-रेख करने वाले त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड (टीडीबी) के चेयरमैन गोपालकृष्णन ने दिया है,. 

मंदिर के बारे में आपको बता दे कि सबरीमाला मंदिर में 50 वर्ष तक की महिलाओं का प्रवेश निषेध है, इसका कारण बताते हुए मंदिर बोर्ड ने महिलाओ की सुरक्षा का भी जिक्र किया है,उनका कहना है कि महिलाओ कि एंट्री से मंदिर परिसर में कई चिंताजनक मुद्दे उठने लगेंगे, सबसे बड़ा मुद्दा तो महिलाओं की सुरक्षा का होगा और प्रशासन को यहां पर महिला पुलिसकर्मी भी तैनात करनी पड़ेंगी.गोपालकृष्णन ने कहा कि मंदिर के रिवाजों को मानने वाली और खुद्दार महिलाएं वहां एंट्री नहीं लेंगी. गोपालकृष्णन के इस बयान का सीपीआई(एम) ने विरोध जताते हुए इसे महिलाओ का अपमान कहा है,इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट ने शनि सिंगणापुर में शनि मंदिर में महिलाओ के प्रवेश को लेकर फैसला सुनाया था, जिसके बाद से शनि मंदिर में महिलाओ का प्रवेश शुरू हो चुका है.

राहुल गांधी ने किये चामुंडा मंदिर में दर्शन, बिना रुके 15 मिनट में चढ़े 1000 सीढियां

'' रोहिंग्या शराणार्थी पर आज सुप्रीम कोर्ट में फैसला ''

 

Share:
रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -