स्मृति ईरानी को पद पर रहने का हक़ नही, मोदी करे बर्खास्त -अंबिका सोनी

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता अंबिका सोनी ने गुरुवार को कहा कि केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी को अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक और कानूनी अधिकार नहीं है। उनका यह बयान दिल्ली की एक अदालत द्वारा स्मृति के खिलाफ डिग्री संबंधी मामले की शिकायत पर संज्ञान लेने के बाद आया है। अंबिका सोनी ने IPL पूर्व प्रमुख ललित मोदी से राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कथित संबंधों के मामले पर उनका इस्तीफा भी मांगा है। उन्होंने एक सार्वजनिक रैली में यहां कहा, "स्मृति ईरानी को अपने पद पर बने रहने का कोई हक़ नहीं है, क्योंकि उनकी स्वयं की डिग्री विवादों में है। उन्हें मंत्री पद से इस्तीफा देना चाहिए, अन्यथा प्रधानमंत्री को उन्हें पद से बर्खास्त कर देना चाहिए।"

कांग्रेस ने राज्य की सत्ता में ढाई साल का कार्यकाल पूरा करने के उपलक्ष्य में रैली का कार्यक्रम किया था। बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार को अंबिका सोनी ने किसान विरोधी करार दिया। उन्होंने बताया , "हम इसके खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ेंगे।" केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए राज्य के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान लंबे-लंबे वादे किए गए जो कि खोखले वादे बनकर रह गए हैं। उन्होंने कहा, "विदेशों में रखे काले धन को वापस लाने का उनका दावा असफल हो गया है, अच्छे दिन की आस लगाये बैठे लोगो के अच्छे दिन अभी तक नही आये।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -