सिंहस्थ कुम्भ : भीड़ प्रबंधन का हो रहा अध्ययन

आने वाले इस सिंहस्थ कुम्भ मेले के लिए बड़े जोर-सोर से तैयारियां जारी है. इस महा पर्व के लिए देश- विदेश से लोग अपना योगदान दे रहे है.बताया जा रहा हैं. की देश-दुनिया में धार्मिक आयोजनों के दौरान जुटने वाली भीड़ का सही प्रबंधन करने के लिए सिंहस्थ नगरी उज्जैन में विभन्न देशों जैसे नीदरलैंड, रूस, अमेरिका और बेंगलूरू जैसे अनेकों राज्यों के वैज्ञानिक जुट गए हैं। और वे इस कुम्भ मेले के लिए बेहतर ढंग से मैनेजमेंट कर रहे है .

बताया जा रहा है .की ये वैज्ञानिक एक ऐसी युक्ति अपनायेगें जिससे मेले में होने वाली भीड़ में किसी को कोई समस्या न हो उस भीड़ में कोई भगदड़ जैसी अन्य दुर्घटना न हो सरलता व सहजता के साथ सभी भक्त जन व साधु -संत इस महा पर्व का बड़ी उत्सुकता के साथ आनंद उठा सकें.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की मेले के मैनेजमेंट के लिए अध्ययन की शुरुआत हो चुकी है। इस अध्ययन पर लगभग 4 करोड़ स्र्पए खर्च होंगे। आप लोगो को ऐसे विशाल मेले में इस तरह का अध्ययन पहली बार देखने को मिलेगा । बताया जा रहा है की भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरू व नीदरलैंड के रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन आपस में संयुक्त होकर इस बड़े प्रोग्राम के लिए अध्ययन में जुट गए है। इनके 20 सदस्यीय दल में नीदरलैंड, रूस व अमेरिका के वैज्ञानिक भी शामिल हैं। 

आईएसएससी के दल का नेतृत्व कर रहे असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. आशीष वर्मा ने मुताबिक़ बताया जा रहा है की 4 करोड़ के बजट से यह अध्ययन विश्व में पहली बार कराया जा रहा है। वैज्ञानिकों द्वारा इस बड़े प्रोग्राम का में मकसद है की मेले में होने वाली भीड़ को दुर्घटना से बचाना एवं समस्त भक्त व् श्रद्धालुओं को इस सिंहस्थ कुम्भ के दौरान धर्म - कर्म करने में कोई समस्या न उत्पन होना. शाम को सिंहस्थ मेला कार्यालय में दल ने तैयारियों का प्रजेंटेशन देखा। नीदरलैंड रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन ग्रुप का नेतृत्व प्रो. पीटर स्लूट कर रहे हैं। 

दल में हितेंद्र त्रिवेदी व अदिति भाटी स्थानीय स्तर पर प्रोजेक्ट एसोसिएट हैं। आईआईएससी का दल अपने साथ ड्रोन कैमरा भी लाया है, जिसके माध्यम से सिंहस्थ के दौरान वीडियोग्राफी व फोटोग्राफी की जाएगी। दल के सदस्यों ने सिद्धवट पर संभागायुक्त को बताया ड्रोन कैमरे में खासतौर से सॉफ्टवेयर डाले गए हैं। इससे भीड़ प्रबंधन के लिए किए जाने वाले अध्ययन में मदद मिलेगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -