Share:
क्या छिलका उतार कर करना चाहिए फलों का सेवन? यहाँ जानिए कौन से फ्रूट्स को कैसे खाएं
क्या छिलका उतार कर करना चाहिए फलों का सेवन? यहाँ जानिए कौन से फ्रूट्स को कैसे खाएं

फल स्वस्थ आहार का एक आवश्यक घटक हैं, जो पोषक तत्वों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करते हैं जो शरीर के समुचित कार्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। वे प्रकृति के पावरहाउस हैं, विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर हैं जो समग्र कल्याण में योगदान करते हैं। फलों के नियमित सेवन से न केवल ऊर्जा का स्तर बढ़ता है बल्कि वजन प्रबंधन में भी मदद मिलती है और मीठे की लालसा कम होती है। विटामिन, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर फलों को शामिल करके, व्यक्ति एक मजबूत और लचीला शरीर सुनिश्चित कर सकता है। इसके अलावा, खट्टे फलों का सेवन शरीर की विटामिन सी की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करता है, जिससे अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है।

हालाँकि, अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग खाने से पहले फलों को छील लेते हैं और छिलके फेंक देते हैं। गौरतलब है कि फलों को छिलके समेत खाना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है. फलों के छिलकों में उच्च मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन में सहायता करता है, रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है और समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखता है। त्वचा को छीलने से शरीर इस फाइबर से वंचित हो जाता है और कार्बोहाइड्रेट का सेवन बढ़ जाता है। आइए विशिष्ट फलों के बारे में गहराई से जानें और समझें कि उनका सेवन कैसे किया जाए जिससे उनके स्वास्थ्य लाभ अधिकतम हो सकें।

कीवी खाते समय छिलका शामिल करें:
कीवी विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत है। यह विटामिन ई, पोटेशियम पॉलिटेक्निक, कॉपर, सोडियम और एंटीऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्वों से भरपूर है। छिलके सहित कीवी का सेवन करने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में फाइबर मिलता है, जो स्वस्थ पाचन को बढ़ावा देता है। इसके अतिरिक्त, छिलके के सेवन से यह सुनिश्चित होता है कि फाइबर सहित सभी पोषक तत्व बरकरार रहते हैं, जिससे कीवी को मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों की पूरी श्रृंखला उपलब्ध होती है।

खाने से पहले चीकू को न छीलें:
सैपोडिला, जिसे आमतौर पर चीकू के नाम से जाना जाता है, एक स्वादिष्ट मीठा और स्वास्थ्यवर्धक फल है। डॉक्टर अक्सर बीमारी के दौरान चीकू खाने की सलाह देते हैं क्योंकि यह पाचन में मदद करता है। इसमें मैंगनीज, जिंक और कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और पाचन में सुधार करता है। अधिकतम लाभ पाने के लिए चीकू को छिलके सहित खाने की सलाह दी जाती है।

बिना छीले सेब का सेवन करें:
एक सेब का दैनिक सेवन किसी के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है। सेब प्रोटीन, फाइबर, आयरन और पानी से भरपूर होते हैं, जो शरीर को हाइड्रेटेड रखने और पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं। सेब को छिलके सहित खाने से फाइबर की पर्याप्त मात्रा सुनिश्चित होती है, जो अच्छे पाचन को बढ़ावा देता है और कब्ज से राहत देता है।

अमरूद को छिलके सहित शामिल करें:
अमरूद एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसमें रोगाणुरोधी, एंटिफंगल, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन बी 6, फोलेट, नियासिन, लोहा, फास्फोरस, कैल्शियम, पोटेशियम, जस्ता, तांबा, कार्बोहाइड्रेट और आहार फाइबर शामिल हैं। अमरूद को छिलके सहित खाने से शरीर को ये आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है।

बेहतर स्वास्थ्य के लिए अनार:
अनार एक पोषक तत्वों से भरपूर फल है जो विटामिन, विशेष रूप से विटामिन सी और विटामिन के से भरपूर है। इसमें पोटेशियम और तांबे जैसे खनिज भी होते हैं। सफेद झिल्ली और छिलके सहित अनार के बीज खाने से अतिरिक्त आहार फाइबर मिलता है, जो पाचन स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और विभिन्न बीमारियों की रोकथाम में सहायता करता है।

छिलके सहित खट्टे फल:
संतरे, नींबू और अंगूर जैसे खट्टे फल विटामिन सी और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के समृद्ध स्रोत हैं। अपने आहार में इन फलों के छिलके और छिलके को शामिल करने से अतिरिक्त स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं, क्योंकि छिलकों में फ्लेवोनोइड और आवश्यक तेल होते हैं जो समग्र कल्याण में योगदान करते हैं।

केले के छिलके से लाभ:
हालांकि यह असामान्य लग सकता है, केले के छिलके का भी सेवन किया जा सकता है। इनमें विटामिन बी6, बी12, मैग्नीशियम और पोटेशियम सहित विभिन्न विटामिन और खनिज होते हैं। केले के छिलके में फाइबर भी होता है जो पाचन में सहायता करता है। इनका कड़वापन कम करने के लिए इन्हें स्मूदी में मिलाकर या पकाकर खाया जा सकता है।

छिलके सहित आम का सेवन करें:
आम न केवल स्वादिष्ट होते हैं बल्कि विटामिन ए, विटामिन सी और पोटेशियम जैसे विटामिन और खनिजों से भी भरपूर होते हैं। छिलके सहित आम खाने से आहार फाइबर की अतिरिक्त खुराक मिल सकती है, पाचन में सहायता मिलती है और आंत के स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है।

इन को अपनी आहार संबंधी आदतों में शामिल करके, आप फलों के सेवन के लाभों को अधिकतम कर सकते हैं और एक स्वस्थ और अधिक जीवंत जीवन शैली सुनिश्चित कर सकते हैं। याद रखें कि इन फलों के छिलके न केवल खाने योग्य होते हैं बल्कि आपके समग्र स्वास्थ्य में भी महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

आयुर्वेद और योग को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल करने की मांग, दिल्ली HC ने केंद्र से माँगा जवाब

प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली इन परेशानियों से घबराएं नहीं, इन उपायों से पाएं छुटकारा

क्‍या होता है रिलेशनशिप में Green Flag?

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -