इस वर्ष निवेशकों को हुआ 7 लाख करोड़ का नुकसान

मुंबई : शेयर बाजार से बाहर आ रही खबर के अनुसार यह देखने को मिला है कि सेंसेक्स ने पिछले चार वर्षो में इस वर्ष के दौरान सबसे ख़राब प्रदर्शन किया है. जी हाँ, बताया जा रहा है कि कल समाप्त हुए वित्त वर्ष के दौरान सेंसेक्स पिछले 4 वर्षो की तुलना में 9.36 फीसदी नीचे देखा गया. इसके साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष के दौरान निवेशकों को सात लाख करोड़ रुपये का नुकसान देखने को मिला है.

बता दे कि विदेशी कोषों की धन निकासी के कारण घरेलू शेयरों में इस वित्त वर्ष के दौरान अधिक नुकसान हुआ है. कल के बाजार के बारे में बात करें तो आपको बता दे कि सेंसेक्स एक दिन पहले के मुकाबले 3.28 अंकों की कमजोरी के साथ 25,341.86 के स्तर पर बंद हुआ है.

इस मामले में यह कहा जा रहा है कि जहाँ एक तरफ अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में उपभोक्ता वस्तुओं की कीमत में कमजोरी का दौर देखा गया है तो वही फेडरल रिजर्व ने भी नीतिगत दरों में वृद्धि की, इसके साथ ही यह भी देखने को मिला कि चीन की अर्थव्यवस्था में भी कमजोरी का सिलसिला बरक़रार रहा जिस कारण सेंसेक्स में यह गिरावट देखने को मिली.

आपको बता दे कि वित्त वर्ष 2011-12 के बाद से अब जाकर सेंसेक्स में सालाना तौर पर यह बड़ी गिरावट देखी गई है. जानकारी में ही इस बात से भी अवगत करवा दे कि इस वित्त वर्ष के दौरान प्रत्येक निवेशक को करीब 2,700 करोड़ रुपये की पूंजी का नुकसान हुआ है. गौरतलब है कि कल यानि 31 मार्च 2016 को निफ़्टी को 7,738.40 के स्तर पर बंद होते हुए देखा गया है. इसके साथ ही यह भी बता दे कि रुपया भी करीब 5.86 फीसदी की कमजोरी के साथ 66.26 रुपये प्रति डालर पर बंद हुआ है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -