सप्ताह के सातों दिनों में दोषो के निवारण के लिए करे ये उपाय

Mar 15 2015 03:24 AM
सप्ताह के सातों दिनों में दोषो के निवारण के लिए करे ये उपाय
यदि आपकी कुंडली में किसी प्रकार का कोई दोष है और आप दोषों की शांति करना चाहते है तो उसके लिए  ज्योतिष में कई उपाय बताए गए हैं, जिनसे शुभ फल प्राप्त किए जा सकते हैं। जानिए सप्ताह के सातों दिनों के लिए छोटे-छोटे उपाय...
 
1. रविवार :- पुराने काल से ही रविवार भगवान सूर्य का दिन माना जाता है और इस दिन भगवान सूर्य की उपासना का विशेष महत्व होता है। भगवान सूर्य से शुभ फल प्राप्त करने के लिए हर रविवार गुड़ और चावल को नदी में प्रवाहित करें।
 
2. सोमवार :- सोमवार भगवान चन्द्रमा का दिन होता है। यदि आप चन्द्रमा से शुभ फल प्राप्त करना चाहते है तो इस दिन भोजन में खीर का सेवन करे। यदि आपकी कुंडली में चंद्र नीच का हो तो सफेद कपड़े पहनना चाहिए और श्वेत चंदन का तिलक लगाना चाहिए।
 
3. मंगलवार :- भगवान मंगल की विशेष पूजा का दिन है मंगलवार। इस दिन मसूर की दाल का दान करें। जो लोग मंगली हैं, वे लाल वस्तुओं का दान विशेष रूप से करें। हर मंगलवार कुछ रेवड़ियां नदी में प्रवाहित करें। मीठा पराठा बनाकर गरीब बच्चों को खिलाएं। हनुमानजी की पूजा करें।
 
4. बुधवार :- बुधवार बुद्धि के देवता भगवान बुध का दिन है। जिन लोगों की कुंडली में बुध अशुभ फल दे रहा है वे इस दिन साबूत मूंग न खाएं और इसका दान करें। मंगलवार की रात को हरे मूंग भिगोकर रखें और बुधवार की सुबह यह मूंग गाय को खिलाएं।
 
5. गुरुवार :- गुरुवार देव गुरु बृहस्पति का दिन है। जिन लोगों की कुंडली में गुरु ग्रह अच्छी स्थिति में नहीं है, वे लोग इस दिन किसी ब्राह्मण को पीले रंग के वस्त्र दान में दें। कढ़ी-चावल खुद भी खाएं और गरीब बच्चों को भी खिलाएं। पीला रुमाल अपने साथ रखें।
 
6. शुक्रवार :- शुक्रवार को असुरों के गुरु शुक्र का दिन माना जाता है । इस दिन शुक्र ग्रह के लिए विशेष उपासना की जानी चाहिए। इस दिन दही और लाल ज्वार का दान करना चाहिए। सफेद रेशमी वस्त्रों का दान करें।
 
7. शनिवार :- शनिवार को शनि की पूजा विशेष रूप से की जाती है। हर शनिवार एक नारियल नदी में प्रवाहित करें। हनुमान चालीसा का पाठ करें। शनिदेव के दर्शन करें और तेल चढ़ाएं।