Share:
उत्तरकाशी टनल हादसे के बाद रेस्क्यू टीम को मिली कामयाबी, 6 इंच का पाइप बना एकलौती उम्मीद
उत्तरकाशी टनल हादसे के बाद रेस्क्यू टीम को मिली कामयाबी, 6 इंच का पाइप बना एकलौती उम्मीद

देहरादून: उत्तरकाशी टनल दुर्घटना के पश्चात् रेस्क्यू टीम को एक छोटी सफलता मिली है। टीम ने सफलतापूर्वक एक 6 इंच का पाइप मलबे के दूसरी ओर पहुंचा दिया है। अब इस पाइप के माध्यम से ही मजदूरों तक फल, खाना, दवाइयां तथा दूसरी चीजें भेजी जा रही हैं। 6 इंच के इस पाइप ने मजदूरों तक चीजें पहुंचाने का रास्ता एकदम आसान कर दिया है। इस छोटी सी सफलता का प्रभाव यह हुआ है कि अब मजदूरों के परिवारों की उम्मीद भी बढ़ गई है कि शीघ्र ही उनके अपनों को टनल से बाहर निकाल लिया जाएगा। 

दरअसल, रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी टीम ने 2 दिन पहले 20 नवंबर को 6 इंच का पाइप मलबे के दूसरी ओर पहुंचाया था। तब से श्रमिकों को खाने-पीने की सभी चीजें इस पाइप के माध्यम से ही भेजी जा रही हैं। मंगलवार को श्रमिकों को रात के खाने में पाइप के माध्यम से शाकाहारी पुलाव, मटर-पनीर एवं मक्खन के साथ चपाती भेजी गईं। बता दें कि उत्तराखंड के उत्तरकाशी में हुए टनल हादसे को 11 दिन गुजर चुके हैं। अंदर फंसे 41 मजदूरों को बाहर निकालने के लिए युद्धस्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

टनल में मलबे के पीछे फंसे श्रमिकों को सेब, ऑरेंज, नींबू पानी के साथ-साथ 5 दर्जन केले भी भेजे गए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी NDMA ने मंगलवार शाम बताया कि उत्तरकाशी की सिल्क्यारा टनल में कल बिछाई गई 6 इंच की पाइपलाइन पूरी तरह से काम कर रही है। छह इंच की पाइपलाइन डाले जाने के पश्चात् ही कई चीजें भेजने में कामयाबी प्राप्त हुई है। जैसे अब दवा के साथ-साथ नमक और इलेक्ट्रॉल पाउडर के पैकेट भी मजदूरों तक पहुंचाए जा चुके हैं। श्रमिकों के टनल में फंसने के पश्चात् पहली बर 20 नवंबर को अंदर खाना पहुंचाया जा सका था। सोमवार की रात 24 बोतल भरकर खिचड़ी एवं दाल भेजी गई थी। 9 दिन बाद पहली बार श्रमिकों को भरपेट भोजन मिला था। इसके अतिरिक्त संतरे, सेब और नींबू का जूस भी भेजा गया था। इसके अतिरिक्त मल्टी बिटामिन, मुरमुरा और सूखे मेवे भी भेजे गए थे। दरअसल, टनल में 8 प्रदेशों के 41 मजदूर फंसे हैं।

केरल और तमिलनाडु में भारी बारिश का अनुमान, शीतलहर को लेकर मौसम विभाग ने कही ये बात

राजधानी दिल्ली में आवारा कुत्तों की दहशत, अब बुजुर्ग महिला को बनाया शिकार, अस्पताल में भर्ती

'हलाल हमारा मजहबी मामला, उसमे दखल मत दो..', योगी सरकार ने लगाया बैन, तो भड़के सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -