बगैर तिरंगे वाला लाल किला !

नई दिल्ली : शीर्षक देखकर अजीब जरूर लग सकता है , लेकिन यह सच है कि गत तीन दिनों से दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज नहीं फहराया जा रहा है . इस संबंध में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फोटो के चर्चा में आने के बाद केंद्र सरकार ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण अर्थात एएसआई से जवाब माँगा है.

उल्लेखनीय है कि लालकिला की सुरक्षा और झंडे को शाम के समय से उतारने और प्रतिदिन सुबह के समय स्थापित करने का कार्य सीआईएसएफ के पास है.पिछले तीन दिन से सोशल मीडिया पर लालकिला की बगैर राष्ट्रीय ध्वज वाली फोटो वायरल होने और इस पर लोगों की टिप्पणियों के बाद सरकार हरकत में आई .बता दें कि कुछ दिन पूर्व लालकिला के रखरखाव के कार्य को निजी कंपनी को दिए जाने का मुद्दा गर्मा गया था.

आपको बता दें कि द डालमिया भारत ग्रुप धरोहर का रखरखाव करेगा और उसके चारों ओर के आधारभूत ढांचों का निर्माण करेगा. उसने इसके लिए 5 साल में 25 करोड़ रूपये खर्च करने की भी बात कही है .इस फैसले का कांग्रेस, सीपीएम और तृणमूल कांग्रेस ने तीखा विरोध करते हुए भारत की आजादी के प्रतीक को कॉर्पोरेट के हाथों में सौंपने का आरोप लगाकर इसकी आलोचना की.

यह भी देखें

गोद ली जाने वाली देश की पहली इमारत बना लाल किला

लाल किला विवाद: विपक्ष ने साधा केंद्र सरकार पर निशाना

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -