Share:
शिक्षा के मंदिर में भी सुरक्षित नहीं महिला, शिक्षकों ने ही बनाया हवस का शिकार
शिक्षा के मंदिर में भी सुरक्षित नहीं महिला, शिक्षकों ने ही बनाया हवस का शिकार

जहाँ हम देश में एक तरफ अच्छी बातों पर नजर डालते है तो वही इस बात को भी नजरअंदाज नहीं कर सकते है कि क्राइम के मामले भी लगातार बढ़ रहे है. जैसे एक मामले की बात करे तो यह सुनने में आता है कि उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर के एक मदरसे में एक विधवा महिला है जोकि रसोई संभालने का काम करती है. इसका कहना है कि यहाँ तीन शिक्षकों के द्वारा उसके साथ दुष्कर्म जैसे घिनोने काम को अंजाम दिया गया है. उसने बताया है कि वह मालीपुर थाना क्षेत्र के सुरहुरपुर गांव के रहने वाली एक विधवा है.

उसके दो बच्चे है और अपने इस छोटे से परिवार को चलाने के लिए वह जलालपुर के एक मदरसे में रसोईया का काम करती है. वह घर दूर होने के कारण मदरसे में ही रात को भी रुक जाया करती है. वही अन्य तीन शिक्षक भी रहते है. बीती 30 मार्च को तीनो ही शिक्षको ने उसके साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया. उसने जब इस बात का विरोध किया तो उसे मदरसे से निकालने और जान से मारने की धमकी भी दी.

महिला ने आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है. मामले में छानबीन हो रही है लेकिन कही ना कही जेहन में एक बात उठती है कि क्या आज महिला उस शिक्षा के मंदिर में भी सुरक्षित नहीं है जहाँ से सभी को आगे बढ़ने और कुछ अच्छा सोचने की शिक्षा मिलती है.

ऐसी ही अन्य ख़बरों के लिए नीचे लिंक्स पर क्लिक करें :-

देखिये यह है दुनिया के सबसे शक्तिशाली व बलशाली पुरुष....

Official Trailer : हॉलीवुड मूवी Annabelle का दूसरा ट्रेलर रिलीज

'एक कहानी-एक सीख', आने वाले खतरे से सबको करे आगाह

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -