+

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को F-16 फाइटर जेट बेचने के फैसले पर लग सकती है रोक

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को F-16 फाइटर जेट बेचने के फैसले पर लग सकती है रोक

वाशिंगटन: अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को लड़ाकू विमान F-16 फाइटर जेट बेचने के फैसले पर अटकलें बढ़ती ही जा रही है. एक रिपब्लिकन सांसद द्वारा सीनेट में ज्वाइंट रिजोल्यूशन पेश किया गया है जिसमे पाकिस्तान को भरोसेमंद न बताते हुए उसे ये फाइटर जेट्स बेचने के फैसले पर रोक लगाने की मांग की गई है. यह ज्वाइंट रिजोल्यूशन सीनेटर रैंड पॉल ने सीनेट में प्रस्तुत किया है.

मालूम हो की सीनेटर रैंड पॉल कुछ समय पहले अपनी पार्टी की तरफ से अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार की दौड़ में शामिल थे. दिलचस्प बात यह है की हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की फॉरेन रिलेशन पर बनी कमेटी ने भी ओबामा सरकार के फैसले पर सवाल खड़े किये है और अब इस कमेटी को पॉल का समर्थन भी मिल गया है. सीनेटर पॉल का कहना है की पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्ते हमेशा से मुसीबत भरे रहे हैं.

हालांकि पाकिस्तान सरकार अमेरिका को आतंकवाद के खिलाफ जंग में सहयोगी मानती है. लेकिन पाकिस्तान के व्यवहार से कुछ अलग ही मतलब निकलता है. हम उन्हें करोड़ों डॉलर्स की सहायता कर चुके है लेकिन लेकिन पाकिस्तानी आर्मी और इंटेलिजेंस हमेशा तालिबान और आतंकियों की मदद करती आई हैं. पाकिस्तान दोहरा रवैया अपना रहा है.

पॉल से पहले चैम्बर ऑफ कांग्रेस और फॉरेन अफेयर्स कमेटी भी ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन के फैसले पर प्रश्नचिन्ह लगा चुकी है. देखा जाये तो साफ तौर पर कमेटी ने इस डील को रोकने के लिए कहा है. कमेटी के चेयरमैन बॉब क्रॉकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी को पत्र लिखकर कहा था कि पाकिस्तान का दोहरा रवैया है और उसके साथ F-16 फाइटर जेट्स की डील नही की जानी चाहिए.