यहां ऑनलाइन होती थी जिस्म की नीलामी

By Sandeep Meena
Oct 10 2015 12:10 AM
यहां ऑनलाइन होती थी जिस्म की नीलामी

नागपुर। नागपुर स्थित झिंगाबाई टाकली एरिया के एक अपार्टमेंट में चल रहे जिस्मफरोशी के अड्डे पर पुलिस ने दबिश दी। कार्रवाई के दौरान पुलिस ने कोलकाता की लड़कियों को छुड़ाया। 2 आरोपियों को हिरासत में लिया है। जानकारी दे की सेक्स रैकेट का यह काला कारोबार धंधा इंटरनेट के माध्यम से चलाया जा रहा था। वही इस गैंग के तार कोलकाता, मुंबई, भोपाल और हैदराबाद से जुड़े हैं। जानकारी के मुताबिक लड़की की डिमांड होने पर आरोपी जॉन उर्फ लारेंस डेविड डिसूजा और मोहम्मद सद्दाम मोहम्मद अब्दुला उन्हें कार में ले जाकर कस्टमर के पास छोड़कर आया करते थे। इन शहरों से इंटरनेट के जरिए सेक्स रैकेट के लिए लड़कियों से संपर्क किया जाता था। उसके बाद उसे कांट्रैक्ट के तहत बुलाया जाता था।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, गिरे ले आउट झिंगाबाई टाकली में विषपा अपार्टमेंट हैं। इस अपार्टमेंट की तीसरी मंजिल पर मोहितकर नामक व्यक्ति का फ्लैट है। उसने यह फ्लैट 11 हजार रुपए महीने से जॉन उर्फ लारेंस डेविड डिसूजा 40 को किराए पर दे रखा था। पुलिस की क्राइम विंग के बाजीराव पोवार को सूचना मिली कि उक्त अपार्टमेंट की तीसरी मंजिल पर मोहितकर के टू बी एच के फ्लैट में सेक्स रैकेट चल रहा है। पोवार ने इस बारे में सीनियर पुलिस अधिकारियों को सूचना दी। उसके बाद कार्रवाई की योजना बनाई।

पुलिस ने दलाल जॉन उर्फ लारेंस डिसूजा और मोहम्मद सद्दाम के पास अपना नकली ग्राहक भेजा। पंटर ने लड़की के बारे में बात की। इन दोनों ने साहिल उर्फ पापा और राज पलांदुरकर से संपर्क किया। ये सभी दूसरे राज्यों की सेक्स रैकेट में लिप्त लड़कियों से संपर्क करने में माहिर हैं। पापा और राज ने हामी भरी तो पंटर को लड़की दिलाने की बात जॉन और मोहम्मद सद्दाम ने कही। पंटर से पहले आठ हजार रुपए मांगे गए। अंतत: बात 3 हजार रुपए में तय हो गई। उसके बाद लड़की को कोलकाता से नागपुर बुलाया गया। लड़की 10 दिन के कांट्रैक्ट पर नागपुर ट्रेन से पहुंची। उसे जॉन और मोहम्मद सद्दाम उक्त फ्लैट में ले गए। वहां पर कस्टमर (पंटर) को बुलाया गया।

उसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया। रुपए लेने के बाद पंटर को कोलकाता से आई हुई लड़की को कमरे में भेजा गया। मौका देखते ही पंटर ने पुलिस को इशारा कर दिया। पुलिस ने फ्लैट में घुसकर वहां बैठे दलाल जॉन और मो. सद्दाम को धर-दबोचा। इन दोनों दलालों के साथी साहिल उर्फ पापा और राज पलांदुरकर की तलाश पुलिस कर रही है। उक्त चारों आरोपियों पर मानकापुर थाने में मामला दर्ज किया गया है।