नोटबंदी से किसानों के सामने संकट

Nov 16 2016 06:02 PM
नोटबंदी से किसानों के सामने संकट

देहरादून :  मोदी सरकार की नोटबंदी के कारण किसानों के सामने संकट खड़ा हो गया है। किसानों का आरोप है कि मोदी सरकार की नोटबंदी ने हमें कहीं का न छोड़ा। हालांकि किसानों को दूरगामी परिणाम भी अच्छे दिख रहे है लेकिन मौजूदा स्थिति से वे परेशान हो रहे है।

किसानों का कहना है कि न तो वे अपने पैसे ही बैंकों से निकाल सके है और न ही बुवाई के लिये बीज और खाद की खरीदी करने में सफल हो सके है। किसानों ने बताया कि देश के कई राज्यों में अभी गेंहू बुवाई चल रही है, लेकिन पैसों के अभाव में वे बुवाई नहीं कर सके।

किसानों का कहना है कि धान बेचने के बाद चेक से पैसे तो मिले है लेकिन जिस तरह से बैंकों में लंबी कतार लगी हुई है उस कारण वे अपना समय बर्बाद नहीं कर सकते और न ही मनमाफिक पैसे खाते से निकाल सकते है क्योंकि सरकार ने रूपयों की निकासी के लिये भी सीमा निर्धारित कर रखी है।

अधिकांश किसानों का कहना है कि समय पर बुवाई नहीं होने से उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो जायेगा।

किसानों के लिए आया ऐसा ड्रोन जो कर सकता है बुआई