भारत को मिली सफलता, तैयार होगा चारबाह बंदरगाह

नई दिल्ली/तेहरान: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों ईरान की यात्रा पर हैं। इस दौरान भारत और ईरान के बीच कई तरह के समझौते हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ईरान के राष्ट्रपति रोहानी ने आपस में भेंट की। इस दौरान दोनों के बीच कई मसलों पर समझौता हुआ। दोनों नेताओं न संयुक्तरूप से विवरण भी जारी किया। जिसमं ईरान के राष्ट्रपति रोहानी ने दोनों ही देशों के बीच कारोबार और अन्य सेक्टर में सहयोग के बेहतर होने की बात कही। यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चाबहार पोर्ट से दोनों देशों के व्यापारिक संबंध और बेहतर हांगे।

इससे चीन और पाकिस्तान को सबक मिलेगा। उल्लेखनीय है कि ईरान के चाबहार पोर्ट को ईरान बेहतर बनाना चाहता है भारत ने ईरान की मदद करने की बात कही है। भारत और ईरान के बीच तेल, गैस, शिक्षा संस्कृति आदि मामलों में 12 समझौते हुए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यदि ईरान का सहयोग मिला तो काशी और कशान की दूरी आधी हो जाएगी। गुजरात में ईरान ने मदद की थी। उल्लेखनीय है कि भारत ईरान के बंदरगाह चारबाह का विकसित करना चाहता है।

इसके विकास के लिए दोनों देशों के बीच समझौता हुआ है। चाबहार पोर्ट तैयार हो जाने के बाद भारत और ईरान सीधे तौर पर व्यापार कर पाऐगे। भारत या ईरान क जहाज पाकिस्तान होकर नहीं जाऐंगे। भारत के जहाज पाकिस्तान छोड़कर अफगानिस्तान में दाखिल हो सकेंगे। अफगानिस्तान और ईरान तक भारत की सीधी पहुंच हो जाएगी। दरअसल इससे भारत कारोबारी तौर पर बेहद महत्वपूर्ण हो जाएगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -