''अंतरिक्ष में काफी बढ़ी भारत की ताकत, अब समुद्री क्षेत्र में ताकतवर बनने की जरुरत''

बंगलोर: पीएम नरेंद्र मोदी के कर्नाटक दौरे का आज दूसरा दिन है. शुक्रवार को पीएम मोदी भारतीय विज्ञान कांग्रेस के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंचे. पीएम मोदी ने भारतीय विज्ञान कांग्रेस के 107वें सेशन को संबोधित भी किया. पीेएम मोदी ने युवा वैज्ञानिकों को कहा कि वे देश के विकास, आम नागरिकों के जीवन को आसान बनाने वाली तकनीक डेवलेप करने की तरफ काम करें.

पीएम मोदी ने यहां एक नया लक्ष्य तय किया और कहा कि भारत ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में अपनी ताकत बढ़ाई है, किन्तु अब समय आ गया है कि हम समुद्र के क्षेत्र में भी अपनी ताकत को बढ़ाएं. समुद्र में भी हमें पानी, फूड और एनर्जी के क्षेत्र में कार्य करना होगा. पीएम मोदी ने कहा कि समुद्र की गहराई में उतर वहां का मानचित्र बनाने और जिम्मेदारी से सतत पोषणीय विकास की भावना पर आधारित संसाधनों के दोहन की जरुरत है.

पीएम मोदी ने इस अवसर पर I-STEM पोर्टल को लॉन्च किया, जो रिसर्च के क्षेत्र में कार्य करेगा. पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि मेरे नए दशक का आगाज़ विज्ञान के कार्यक्रम से हो रहा है, पिछली दफा जब मैं बेंगलुरु आया था तब चंद्रयान लॉन्च हो रहा था. रिसर्च का इकोसिस्टम इस शहर ने डेवेलोप किया है, जिससे जुड़ना प्रत्येक युवा का सपना होता है. किन्तु इस सपने का आधार केवल अपनी प्रगति नहीं बल्कि देश के लिए कुछ करने से ये सपना जुड़ा है.

Air India, BPCL और कॉनकोर की विनिवेश प्रक्रिया इस वित्त वर्ष में संभावना है कम

NHAI के कलेक्शन में दिक्कत का लगा पता, FASTag का फायदा कलेक्शन में दिखने लगा

भिलाई इस्पात संयंत्र में हुए हादसों से हुआ 200 करोड़ का नुक्सान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -