Share:
पहचान नहीं पाओगे इंसान हैं कि पुतले
पहचान नहीं पाओगे इंसान हैं कि पुतले

tyle="text-align:justify">कलाकार को अपनी कलाकारी का आकार देना बहुत अच्छी बात है लेकिन उसमें जान डाल देना अच्छी के साथ एक अद्भुत बात भी है। ऐसा ही एक कारनामा कर दिखाया एक इतालवी स्कल्पटर पीटर डिमेट्ज ने। इन्होने काठ के ऐसे शानदार पुतले तराशे हैं कि उन्हें देखकर ऐसा लगता है कि बस अभी बोल देंगे।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -