एक दिन का अफसर बना चपरासी, निकाला ये अनोखा आदेश

भिंड: मध्यप्रदेश के भिंड में ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर ने अपने कार्यालय में काम करने वाले चपरासी को 1 दिन के लिए अपना कार्यभार सौंप दिया। कर्मचारी ने कार्यभार लेने के पश्चात् महत्वपूर्ण आदेश निकाला। एक दिन का अधिकारी बनने के पश्चात् आदेश जारी किया कि कार्यालय में जो भी गंदगी करता हुआ पाया जाएगा या नशे में कार्यालय आएगा, उस पर 200 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

भिंड के ब्लॉक शिक्षा अफसर सुदामा सिंह भदौरिया ने अपने कार्यालय में कार्यरत चपरासी रमेश श्रीवास को एक दिन के लिए बीईओ के तौर पर कार्यभार सौंपा। हालांकि उनके पास प्रशासनिक एवं वित्तीय अधिकार नहीं थे, क्योंकि इसकी लंबी प्रक्रिया होती है। एक दिन के लिए ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर बनने वाले रमेश श्रीवास ने बताया कि उन्हें नौकरी करते हुए 37 वर्ष हो गए, मगर उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें अधिकारी की कुर्सी पर बैठने का अवसर प्राप्त होगा।

रमेश श्रीवास ने कहा कि मैं प्रतिदिन कार्यालय में काम करने वाले स्टाफ की सेवा में लगा रहता हूं, मगर 1 दिन का ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर बनने के पश्चात् मैंने उत्कृष्ट स्कूल का दौरा किया। रमेश ने बताया कि विद्यालय में निरीक्षण के चलते रजिस्टर चेक किया। इसके साथ ही आदेश निकाला है सभी लोग वक़्त से कार्यालय आएं। इसके अतिरिक्त मैंने कार्यालय में गंदगी करने वालों, यहां वहां थूकने वालों, सिगरेट पीने वालों एवं नशा करने वालों पर 200 रुपए जुर्माने का आदेश भी निकाला है। वहीं बीईओ भदौरिया ने कहा कि मैंने एक प्रयोग किया है। इसका लक्ष्य किसी भी कर्मचारी के मन में यह भाव न रहे कि हम छोटे कर्मचारी हैं। मेरा कहना है कि शासन-प्रशासन के द्वारा हम सभी पदस्थ कर्मचारियों को जो शक्तियां दी गई हैं, वह सभी के लिए अपने-अपने स्तर पर अहम होती हैं। कर्मचारी एवं अफसरों के भेद को समाप्त करने के मकसद से यह निर्णय लिया था।

चाइना डोर पर लगा प्रतिबंध, धारा 144 के तहत आदेश हुआ जारी

तहसीलदार और पटवारी ने सीएम हेल्पलाइन की शिकायत उठवाने का बनाया दबाव

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ODI सीरीज के लिए हुआ भारतीय महिला टीम का ऐलान, देखें पूरा शेड्यूल

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -