पंचायत का फैसला, आरोपी के साथ रहे दुष्कर्म पीड़िता

May 07 2015 09:44 AM
पंचायत का फैसला, आरोपी के साथ रहे दुष्कर्म पीड़िता

उत्तरप्रदेश/बुलन्दशहर : खुर्जा जंक्शन चौकी क्षेत्र में पंचायत ने दुष्कर्म पीड़िता को आरोपी के साथ ही रहने का फरमान जारी किया है। साथ ही आरोपी को जुर्माने के तौर पर एक लाख रुपये और 3 बीघा जमीन पीड़िता के पति को देने का भी आदेश दिए। इस फरमान के बाद आरोपी फरार हो गया। वहीं, पति ने उसे और उसके बच्चे को अपनाने से इंकार कर दिया है। अधिकारियों ने पुलिस को एफआआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।

पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक पीड़िता से गांव के ही एक शख्स ने करीब साल भर पहले दुष्कर्म किया था। इसकी जानकारी महिला के पति को हो गई। धीरे-धीरे समय बीतता गया और महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। 10 अप्रैल 2015 को पति ने गांव में पंचायत बुलाई। जिसमें यहां के 30-40 लोग जमा हुए। पंचों ने आरोपी युवक को बुलवाया। उसने पंचायत में महिला से संबंध बनाने की बात स्वीकार करते हुए कहा कि बेटा भी उसी का है।

इसके बाद पंचायत ने चौकी इंचार्ज के नाम पर फरमान जारी किया। जिसमें आरोपी से जुर्माने के तौर पर महिला के पति को एक लाख रुपये और 3 बीघा जमीन देने को कहा गया है। यही नहीं, पीड़िता को आरोपी के साथ ही रहने का हुक्म भी सुना दिया। पंचायत के फैसले के बाद आरोपी फरार हो गया।

बताया जा रहा है कि वह गांव का दबंग है। वहीं, अब महिला को उसका पति भी अपने साथ रखने को तैयार नहीं है, क्योंकि उसे जुर्माने के पैसे और जमीन नहीं मिली। फरार आरोपी के घरवालों ने भी महिला को अपनाने से इंकार कर दिया है।

अब पीड़िता पंचायत के उस फरमान को लेकर पुलिस अधिकारियों से न्याय दिलाने की गुहार कर रही है, जिसपर पंचों ने फैसला सुनाते हुए अपने हस्ताक्षर किए थे। एसपी देहात अशोक कुमार ने खुर्जा पुलिस को आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं। उनका कहना है कि पंचों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।