Share:
बीसाहड़ा में छाई खामोशी, अजीब सी है यहां की फिज़ा
बीसाहड़ा में छाई खामोशी, अजीब सी है यहां की फिज़ा

नई दिल्ली: उत्तरप्रदेश के दादरी के समीप स्थित बीसाहड़ा गांव एक बार फिर चर्चा में है। दरअसल यहां पर 28 सितंबर 2015 को बीफ सेवन के अंदेशे से ग्रामीण अखलाक की पीट - पीटकर हत्या कर दी गई थी। यह घटनाक्रम ईद के त्यौहार के तीन दिन बाद हुआ था। अब इस घटनाक्रम के लगभग एक वर्ष पूर्ण होने और ईद के आने पर गांव का माहौल काफी बदला हुआ है। गैर मुस्लिमों से मुस्लिमजन ईद मनाने की परमिशन ले रहे हैं। तो दूसरी ओर गैर मुस्लिम ईद उल अजहा के त्यौहार पर मुसलमानों के घर का भोजन सेवन न करने की बात कर रहे हैं।

गांव के लोगों का कहना है कि यहां पर कुर्बानी नहीं होगी। इसके पीछे का कारण गरीबी कहा जा रहा है मगर दूसरी ओर लोगों का कहना है कि यह यहां पर हुए हत्याकांड के कारण ऐसा निर्णय लिए जाने की बात बता रहे हैं।

गौरतलब है कि कथित तौर पर अखलाक की हत्या गौ मांस रखे जाने के अंदेशे से की गई थी। इस मामले में करीब 18 युवकों को पकड़ा गया था। जिसमें 3 नाबालिग आरोपियों को जमानत दे दी गई थी। अभी भी 7 लोगों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज की गई है। अखलाक के बेटे दानिश को भी इस मामले में पीटा गया था।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -