केदारनाथ धाम में बना नया इतिहास, 18 दिन में 5 लाख लोगों ने किये दर्शन
केदारनाथ धाम में बना नया इतिहास, 18 दिन में 5 लाख लोगों ने किये दर्शन
Share:

केदारनाथ: केदारनाथ यात्रा (Kedarnath Yatra) के इतिहास में पहली बार बाबा केदार के दर्शन के लिए भक्तों का हुजूम उमड़ रहा है। केदारघाटी से लेकर केदारनाथ धाम तक यात्रियों से भरा पड़ा है। इस वर्ष बाबा केदार के दर्शनों के लिए उम्मीद से ज्यादा तीर्थ यात्री पहुंच रहे हैं तथा पुराने सभी रिकार्ड ध्वस्त होते जा रहे हैं। पिछली यात्रा में बने सभी रिकार्डों को ध्वस्त करते हुए इस बार सिर्फ 18 दिन में 5 लाख से ज्यादा श्रद्धालु बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं।

वही इस बार आरम्भ से लेकर अब तक हर दिन 30 हजार से ज्यादा भक्त बाबा केदार के दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं। प्रशासन भी केदारनाथ धाम की यात्रा पर पैनी नजर बनाये हुए हैं। पैदल मार्ग समेत धाम में यात्रियों को शौचालय, विद्युत, संचार, रहने व खाने की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसके अतिरिक्त हर हैलीपैड, धाम, पैदल मार्ग, यात्रा पड़ावों एवं हाईवे पर CCTV कैमरा के माध्यम से नजर रखी जा रही है।

यात्रियों की सुरक्षा एवं सेवा के लिये रुद्रप्रयाग प्रशासन की तरफ से पीआरडी, होमगार्ड, पुलिस, SDRF, यात्रा मैनेजमैंट फोर्स, DDRF के जवानों के अतिरिक्त सेक्टर मजिस्ट्रटों को तैनात किया गया है। सोनप्रयाग, गौरीकुंड, पैदल यात्रा मार्ग के मुख्य पड़ावों एवं केदारनाथ धाम में यात्रियों के स्वास्थ्य की भी जांच की जा रही है। जरूरतमंद लोगों को आक्सीजन की भी सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। पैदल मार्ग पर संचालित हो रहे घोड़े-खच्चर एवं उनके संचालकों की वजह से यात्रियों को कोई समस्या न हो, इसके लिए निगरनी टीम भी तैनात की गई है। धाम पहुंच रहे यात्री भी बाबा केदार के दर्शन करके प्रसन्न हैं। 

भगवंत मान को हटाकर चड्ढा को CM बनाने वाले हैं केजरीवाल, सिंघवी को भेजेंगे राज्यसभा - सनसनीखेज दावे से चढ़ा सियासी पारा

मुस्लिम आरक्षण पर मचा सियासी घमासान, अब अशोक गहलोत ने इस पर दिया बड़ा बयान

'कुरान ख़त्म हो जाएगी..', क्या ममता बनर्जी ने कर दी ईशनिंदा ? फिरहाद हकीम को मुस्लिमों से मांगनी पड़ी माफ़ी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -