अस्पताल में चूहों के काटने से 10 दिन के नवजात की मौत

Aug 27 2015 11:53 AM
अस्पताल में चूहों के काटने से 10 दिन के नवजात की मौत

गुंटूर : गुंटूर जिले के सरकारी हॉस्पिटल में लापरवाही के चलते NICU में भर्ती एक 10 दिन की नवजात की चूहों के काटने से बुधवार को मौत हो गई. चूहे ने इस नवजात बच्चे की बायीं आंख और हाथ की उंगलियों को बुरी तरह से काट कर खाया है. बच्चे के चेहरे पर भी खरोंच के निशान हैं. बुधवार सुबह जैसे ही बच्चे के घरवालों ने उसके चेहरे और हाथ-पैरों से खून बहता देखा तो वो घबरा गए और उसे तुरंत ड्यूटी डॉक्टर के पास ले गए लेकिन ड्यूटी डॉक्टर के टालमटोल रवैये की बजह से बच्ची की मौत हो गई. बच्चे के पिता नागाराजू एक दिहाड़ी मजदूर है.

बच्चे का जन्म 17 अगस्त को विजयवाड़ा में हुआ था, लेकिन बच्चे की तबीयत ठीक न होने से उसे गुंटूर के हॉस्पिटल रेफर किया गया था. लेकिन यहाँ भी हालत न सुधरने पर बच्चे को NICU में रखा गया. यहां ये हादसा हुआ. मामले की जानकारी मिलते ही आंध्र प्रदेश के स्वास्थ मंत्री ने जांच के आदेश दे दिए हैं.

बच्चे की मां चावेली लक्ष्मी का कहना है कि 'अस्पताल प्रशासन द्वारा चूहों को रोकने के कोई उपाए नहीं किए जाते, मेरे बेटे की जान चूहों ने नहीं बल्कि डॉक्टर्स ने ली है.'

एक हफ्ते पहले की थी शिकायत

बच्चे के पिता नागाराजू ने बताया कि “हमने एक हफ्ते पहले ही चूहों से होने वाली परेशानी के बारे में डॉक्टर्स को बताया था लेकिन उन्होंने इस शिकायत को अनसुना कर दिया. हादसा होने के बाद डॉक्टर्स ने मुझसे कहा कि चिंता की क्या बात है तुम्हारा पहले से ही एक दो साल का बेटा है तो."