NDA की सशक्तता है जनता परिवार का साथ न होना

May 04 2015 04:54 PM
NDA की सशक्तता है जनता परिवार का साथ न होना

पटना : बिहार विधानसभा के लिए आगामी चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने अपनी गतिविधियां तेज कर दी हैं। जहां बिहार में महादलित नेता के तौर पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी सामने आए हैं वहीं आरजेडी और जेडीयू के बीच गठबंधन की बातों पर सभी की नज़र बनी हुई हैं।

इसे लेकर लोकजनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि जनता परिवार कभी एक नहीं हो सकता। अभी तक पार्टी का नाम और ध्वज तय नहीं हो पाया है। केंद्रीय मंत्री श्री पासवान आज पटना में भारतीय मानक ब्यूरो की पटना शाखा प्रयोगशाला का निरीक्षण करने पहुंचे थे।

जब उनसे बिहार की राजनीतिक उथल - पुथल को लेकर चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि जनता परिवार का एक साथ नहीं रहना राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के लिए अच्छा संकेत है। उन्होंने कहा कि यदि भविष्य में भी ऐसी स्थिति रही तो इसका लाभ एनडीए को जरूर मिलेगा।

पटना प्रयोगशाला की हालत देखकर केंद्रीय मंत्री श्री पासवान बेहद दुखी हुए। उन्होंने दिल्ली स्थिति दफ्तर में फोन कर कहा कि यहां की स्थिति तो बहुत खराब है यहां एक भी उपकरण नहीं चल रहा है। उन्होंने यहां यूनिवर्सल टेस्टिंग मशीन की जांच करने के निर्देश दिए और इसके बारे में जानकारी ली तो यह मशीन नहीं चली।

इस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि यहां तो कोई काम ही नहीं है सब कुछ ठप है। यदि ऐसा ही चला तो सभी को उत्तर पूर्व भेज दीजिए। इसके बाद उन्होंने पटना शाखा के अधिकारी एमके घोष से चर्चा की।