Share:
नीलेकणि ने की मोदी के कैशलेस मंत्र की तारीफ
नीलेकणि ने की मोदी के कैशलेस मंत्र की तारीफ

नई दिल्ली। भारत में यूनिक आइडेंटिफिकेशन, आधार कार्ड के जनक माने जाने वाले नंदन नीलेकणि ने केंद्र सरकार द्वारा 500 रूपए और 1000 रूपए के नोट बंद किए जाने के निर्णय का स्वागत किया है। नीलेकणि ने कहा है कि सरकार का यह फैसला बहुत ही महत्वपूर्ण है, हालांकि लोगों को जो परेशानियां हो रही हैं उसके हल होने में कुछ समय और लग सकता है मगर कुछ सप्ताह के बाद स्थिति बेहतर होगी और सरकार के इस प्रयास से डिजिटलाईजेशन को बूस्ट मिलेगा।

नीलेकणि द्वारा केंद्र सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि देश में लगभग 15 लाख प्वाॅइंट आॅफ सेल मशीनें लगी हुई हैं। ये मशीनें आने वाले समय में बढ़ेंगी। इतना ही नहीं देशभर में एक लाख तीस हजार माइक्रो एटीएम है। माना जा रहा है कि आने वाले समय में ये माइक्रो एटीएम बढ़कर करीब 10 लाख तक पहुंच जाऐंगे। उन्होंने बैंकिंग के क्षेत्र में इंटरनेट और कंप्युटर प्रयोग की बात करते हुए कहा कि जब यह माध्यम लोगों की पहुंच तक बढ़ जाएगा तो फिर लोगों को आसानी होगी और एक बड़ी क्रांति होगी।

इतना ही नहीं यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर या आधार कार्ड का उपयोग होने से लोगों को बैंक व्यवहार करने में सुविधा हो रही है। उन्होंने कहा कि देश में कालाधन कम हो जाएगा और लोग कैशलेस ट्रांजिक्शन की ओर बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड का निर्माण और यूपीआई बनाने में सुरक्षा का ध्यान रखा गया है।

देश कैशलेस सिस्टम से प्रगति की ओर बढ़ेगा। गौरतलब है कि यूपीए सरकार के कार्यकाल में नंदन नीलेकणि महत्वपूर्ण पद पर थे और उन्होंने आधार कार्ड योजना देकर देश के नागरिकों को एक यूनिक आईडी प्रदान करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

SC ने किया नोट बंदी पर रोक से इन्कार

नोट बंदी: सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत

जम कर नाचे बाराती जब डीजे पर बजा मोदी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -