PM मोदी की रैली के लिए मुस्लिम किसान ने दे दिया अपना खेत

सहारनपुर : अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य नेताओं की रैलियों के लिए किसानों की जमीनों को अधिग्रहित कर लिया जाता है। इस तरह के अधिग्रहण में कभी किसान कम मुआवजा मिलने की बात करते हैं तो कभी मुआवजा न मिलने की बात होती है मगर इस बार तो एक अनोखा उदाहरण सामने आया है। दरअसल भाजपा के केंद्र में सत्ता में रहने के दो वर्ष पूर्ण हो गए हैं। ऐसे में उत्तरप्रदेश के सहारनपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री की रैली के लिए सहारनपुर के दिल्ली रोड पर मोदी की रैली के लिए 265 बीघा जमीन में मंच और पंडाल का निर्माण हो रहा है। दरअसल जहां पर आयोजिन होना है उस भूमि का कुछ भाग करीब 8 बीघा रहीस अहमद के खेत का भी है। दरअसल उसने अपने खेत की 8 बीघा जमीन अधिग्रहण के तहत आयोजन के लिए दी है। इस किसान ने अपने खेत में गन्ना लगाया है। अहम बात है कि मुस्लिम धर्म का होने के बाद भी यह व्यक्ति बिना किसी विवाद अपनी जमीन कार्यक्रम के लिए देने के लिए तैयार हो गया।

भाजपा नेताओं ने इस किसान को फसल के बदले में मुआवजा लेने की पेशकश करते रहे मगर उसने मुआवजा लेने से मना कर दिया। किसान रहीस अहमद ने कहा कि वे जमीन को ठेके पर बो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारा गांव पीएम की रैली में सहयोग कर रहा है इसलिए मुझे मुआवजा नहीं चाहिए। गन्ने की कटाई इसलिए कर रहा हूं क्योंकि कुछ फसल तो बच जाएगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -