प्रौद्योगिकी का अधिक इस्तेमाल अकेलापन लाता है - ओबामा

नई दिल्ली : देश की राजधानी दिल्ली के टाउन हाल में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने प्रौद्योगिकी को लेकर जो कहा वह आँखे खोलने वाला है.ओबामा ने युवाओं को प्रौद्योगिकी के नुकसान के प्रति चेताते हुए शुक्रवार को कहा कि इसके अधिक इस्तेमाल से अकेलापन आ सकता है. इसलिए उन्होंने इंटरनेट पर ऑन लाइन रहने की बजाय आफलाइन अधिक सक्रिय हों.

उल्लेखनीय है कि अपने सम्बोधन में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने जीवन के यथार्थ से परिचय कराते हुए कहा कि आधुनिक गैजेट शिक्षकों के महत्व का स्थान नहीं ले सकते. प्रौद्योगिकी सब कुछ ठीक करने के लिए कोई जादू की छड़ी नहीं होती है.प्रौद्योगिकी के खतरों से आगाह कर ओबामा ने कहा यह वास्तव में लोगों को अकेला कर सकती है. लोग अपने उपकरणों के इतने आदी हो जाएंगे कि वे कोई संवाद ही नहीं करेंगे. इसलिए उन्होंने इंटरनेट पर ऑन लाइन रहने की बजाय आफलाइन अधिक सक्रिय रहने की अपील की.

आपको बता दें कि इस मौके पर ओबामा ने भारत को अपनी मुस्लिम आबादी की कद्र करने और उनका ध्यान रखने की सलाह दी. बराक ओबामा ने रहस्योद्घाटन किया कि वर्ष 2015 में राष्ट्रपति के रूप में जब भारत के आखिरी दौरे पर आए थे तो उन्होनें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बंद कमरे में हुई बैठक में धार्मिक सहिष्णुता की जरूरत और किसी भी पंथ को मानने के अधिकार पर ज़ोर दिया था.

यह भी देखें

ओबामा निकले मनमोहन के प्रशंसक

ओबामा की पहली भारत यात्रा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -